चीन की हरकतों से सतर्क रहे सेना: राजनाथ सिंह


नई दिल्ली

चालबाज ड्रैगन की चालाकियों को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना के शीर्ष अफसरों को आगाह किया है। उन्होंने बुधवार को आर्मी के टॉप अफसरों से कहा कि वे एलएसी पर चीन की हरकतों और सैन्य बातचीत के दौरान उसके इरादों को लेकर पूरी तरह सतर्क रहे। आर्मी कमांडर्स कॉन्फ्रेंस में रक्षा मंत्री ने मौजूदा सुरक्षा माहौल को संभालने के अंदाज के लिए सेना की तारीफ भी की। राजनाथ के ये बयान ऐसे वक्त आए हैं जब पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर पिछले कई महीनों से भारत और चीन के बीच जबरदस्त तनाव है। दोनों पक्ष अब तक कई दौर की सैन्य बातचीत कर चुके हैं लेकिन अभी तक बात नहीं बनी है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को शीर्ष सैन्य कमांडरों को संबोधित करते हुए 'मौजूदा सुरक्षा माहौल' को संभालने के अंदाज के लिए सेना की तारीफ की। पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सीमा पर जारी गतिरोध के बीच उनका बयान काफी अहम है। सोमवार को शुरू हुए चार दिवसीय कमांडर्स कॉन्फ्रेंस में शीर्ष सैन्य कमांडर चीन के साथ लगने वाली वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत की युद्धक तैयारियों के साथ ही जम्मू-कश्मीर में स्थिति की व्यापक समीक्षा कर रहे हैं।

'सेना को मजबूती देने के लिए सरकार कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी'

रक्षा मंत्री ने कहा कि 'सशस्त्र बलों की भुजाओं' को मजबूती देने के लिए सरकार कोई कोर-कसर बाकी नहीं छोड़ेगी। सिंह ने ट्वीट किया, 'नई दिल्ली में आज सैन्य कमांडरों के सम्मेलन को संबोधित किया। मौजूदा सुरक्षा माहौल में भारतीय सेना की तरफ से उठाए गए कदमों पर मुझे बेहद गर्व है।' पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं के बीच 5 महीने से भी ज्यादा वक्त से गतिरोध बना हुआ है और दोनों पक्षों ने क्षेत्र में 50-50 हजार से ज्यादा सैनिकों की तैनाती कर रखी है जो गतिरोध की गंभीरता को बयां करता है। गतिरोध को दूर करने के लिये दोनों पक्षों में कई दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन अब तक कोई सफलता नहीं मिली है। सेना की तारीफ करते हुए सिंह ने कहा कि आजादी के बाद से देश की संप्रभुता और सुरक्षा से जुड़ी कई चुनौतियों का बल ने सफलतापूर्वक समाधान दिया है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget