१० लाख, मकान और नौकरी पर माना पुजारी परिवार

Rajsthan Pujari family

जयपुर 

राजस्थान के करौली जिले के सपोटरा में पुजारी की हत्या के बाद से धरने पर बैठे परिवार की मांगों को अशोक गहलोत सरकार ने मान लिया है। बताया जा रहा है कि राजस्थान सरकार पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपये, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत डेढ़ लाख रुपये का मकान और एक सदस्य को सरकारी नौकरी देगी। इतना ही नहीं इस मामले की जांच के लिए जयपुर से एक एसआईटी का गठन भी किया जाएगा। 

गहलोत सरकार से लोगों में नाराजगी बढ़ती जा रही थी। आखिरकार सरकार को पीड़ित परिजनों की बात माननी पड़ी। पुजारी बाबूलाल के परिवार ने शनिवार को अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया था, जिसके बाद से प्रशासन लगातार परिवार को मनाने में जुटा था ताकि वह अपना धरना खत्म कर दे। 

राज्यपाल ने की सीएम से बात 

पुजारी को कथित रूप से जलाने की घटना के बाद राज्य की कानून-व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बात की थी। इस दौरान राज् यपाल ने चिंता जताई। 

सीएम ने आश्वासन दिया कि मामलों की जांच की जा रही है और दोषियों को बशा नहीं जाएगा। दूसरी तरफ, करौली के सपोटरा इलाके में पुजारी को जिंदा जलाने के बाद से वहां के लोगों में गुस्सा नहीं थम रहा है। परिवार के लोगों ने पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया है और राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार के सामने कुछ मांगें रखी हैं। परिवार का कहना है कि जब तक मांगें पूरी नहीं हो जाती हैं वह अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। आपको बता दें कि इस मामले के मुख्य आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। 

पुजारी के परिवार ने रखी थी शर्त 

पुजारी बाबूलाल के रिश्तेदार ललित ने कहा कि हम चाहते हैं कि 50 लाख रुपये मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी मिले। सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए और आरोपियों का समर्थन करने वाले पटवारी और पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। पुजारी के परिवार को सुरक्षा भी मिलनी चाहिए। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget