ISI को गुप्त जानकारी देनेवाला एचएएल कर्मचारी गिरफ्तार


नासिक

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) को लड़ाकू विमान संबंधी जानकारी मुहैया कराने को लेकर हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया गया है। महाराष्ट्र पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि व्यक्ति भारतीय लड़ाकू विमान और उसकी विनिर्माण इकाई संबंधी खुफिया जानकारी आईएसआई को दे रहा था। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, 'राज्य आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) की नासिक इकाई को व्यक्ति के बारे में विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिली थी।व्यक्ति आईएसआई के लगातार संपर्क में था।' उन्होंने बताया कि व्यक्ति भारतीय लड़ाकू विमान और उसकी संवेदनशील विस्तृत जानकारी संबंधी खुफिया सूचना के अलावा नासिक स्थित ओझर में एचएएल विमान विनिर्माण इकाई, वायुसेना अड्डे और विनिर्माण इकाई में प्रतिबंधित क्षेत्र संबंधी जानकारी दे रहा था। आरोपी के खिलाफ शासकीय गुप्तता अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।
पुलिस अधिकारी ने कहा कि उसके पास से पांच सिम कार्ड के साथ तीन मोबाइल हैंडसेट और दो मेमोरी कार्ड जब्त किए गए हैं।
उन्होंने कहा कि फोन और सिम कार्ड जांच के लिए फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरी भेजे जा रहे हैं। अधिकारी ने कहा कि आरोपी को शुक्रवार को अदालत में पेश किया गया और उसे 10 दिन के लिए एटीएस हिरासत में भेज दिया गया है। एचएएल का नासिक विमान प्रभाग मिग-21 एफएल विमान और के-13 मिसाइलों का निर्माण करता है। इसकी स्थापना 1964 में की गई थी। यह ओझर में स्थित है, जो नासिक से 24 किमी और मुंबई से लगभग 200 किमी दूर है। डिवीजन अन्य मिग वेरिएंट जैसे मिग-21 एम, मिग-21 बीआईएस, मिग-27 एम और अत्याधुनिक विमान सुखोई एसयू-30 एमकेआई लड़ाकू विमान का भी निर्माण करता है।
इससे पहले पांच अक्तूबर को नासिक से ही एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया था।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget