कसम तोड़ 66 साल की उम्र में रचाई शादी

लॉकडाउन में हुआ अकेलेपन का एहसास

Madhav Patil

मुंबई

सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार माधव पाटिल की सगाई 1984 में हुई थी। उनकी शादी होने वाली थी, लेकिन लड़की ने उन्हें धोखा दे दिया। उस दिन माधव ने कभी भी शादी न करने की कसम खाई। वह अपनी मां के साथ उड़ान गांव में काम करने लगे। लॉकडाउन के दौरान माधव के जीवन का अकेलापन उन्हें खाने लगा, वह परेशान हो गए और उन्होंने अपना जीवन साथी चुनने का फैसला लिया। अब 66 साल के माधव ने 45 साल की संजना के साथ शादी की है।

संजना (45) का उनके पति के साथ चार साल पहले तलाक हो गया था। वह अपने भाई के साथ रह रही थी, लेकिन कोरोना वायरस के चलते उसके भाई की भी मौत हो गई, इसके बाद उसका परिवार संकट में आ गया। संजना का दुनिया में कोई नहीं बचा। ऐसे में माधव पाटिल ने उसका हाथ थामा।

अगस्त में दोनों की मुलाकात हुई। तीन महीने तक दोनों एक-दूसरे से कई बार मिले। 29 अक्टूबर को दोनों ने शादी कर ली। शादी में संजना की मां, बहन के अलावा माधव की मां भी शामिल हुईं। दोनों के कुछ नजदीकी दोस्त और पड़ोसी भी शादी के साक्षी बने। सोशल मीडिया में दोनों की शादी का वीडियो वायरल हो रहा है। कुछ दोनों की उम्र को लेकर मजाक उड़ा रहे हैं तो कुछ का कहना है कि प्यार की कोई उम्र नहीं होती।

माधव पाटिल ने कहा कि जब मैं जवान था तो मेरे दोस्तों और परिवार ने मेरे ऊपर शादी करने का बहुत दबाव बनाया, लेकिन मेरा दिल एक बार टूट चुका था, मैं शादी करने के लिए खुद को राजी नहीं कर सका। मुझे कभी जीवनसाथी की कमी भी महसूस नहीं हुई, क्योंकि गांववालों के बीच काम करने के दौरान हमेशा व्यस्त रहा। लॉकडाउन में जब सब अपने घरों में बंद हो गए तो मैं अकेला पड़ गया और तब एहसास हुआ कि जीवन का खालीपन भरना जरूरी है।

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget