उम्रदराज महिला कैदियों को मिलेगी आजादी

लखनऊ

नारी बन्दी निकेतन में बन्द उम्र दराज महिला कैदियों को जल्द जेल से रिहा किया जाएगा। ताकि यह महिलायें अपनी बची जिंदगी परिवार के साथ बिताएं।राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने महिला कैदियों के रिहाई का प्रस्ताव डीजी जेल आंनद कुमार, एआईजी डॉ. शरद और डीएम अभिषेक प्रकाश से मांगा है। यह बात राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने जेल में बंद 80 साल की बुजुर्ग और बीमार आशक्त महिलाओं को रिहाई की सौगात दी। राज्यपाल ने महिला बंदियों से मिलकर उनका हाल जाना। राज्यपाल ने जेलों में बन्दी पुनर्वास और आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में उद्योग और अन्य रोजपरक संसाधन मुहैया कराने पर डीजी आनन्द कुमार की सराहना की।

राज्यपाल ने महिला कैदियों के दुख और कष्ट साझा किए। अस्पताल में वृद्ध एवं आशक्त महिला बंदियों से मिलीं उनकी बीमारी और तकलीफ के बारे में पूछा। राज्यपाल ने जेलर नयन तारा बनर्जी के साथ रसोईघर में बन रहे कैदियों के भोजन की गुणवत्ता परखी। राज्यपाल ने महिलाओं बन्दी द्वारा तैयार किए जा रहे सेनेटरी पैड की सराहना की। उन्होंने महिला कैदियों से कहा कि जेल से छूटने के बाद अच्छा काम करें। ताकि आपको दोबारा जेल में आना पड़े। उन्होंने महिला कैदी के साथ रह रहे छोटे-छोटे बच्चों को उपहार भी दिया।

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget