पुलिस की सतर्कता से नहीं हुई मॉब लिंचिंग

पालघर 

पालघर पुलिस की सक्रियता के चलते यहां के विक्रमगढ इलाके मे मॉबलिंचिंग के घटना को रोक लिया गया। दरअसल जंगल के तलवाडा इलाके में लोगों ने एक संदिग्ध को घूमते देखा तो उसे पकड़ लिया। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस तुरंत हरकत में आई और मौके पर पहुंचकर संदिग्ध को भीड़ से छुड़ा लिया। पूछताछ में खुलासा हुआ कि पकड़ा गया शख्स हैदराबाद के एक सराफा व्यवसायी से नकली सोना देकर ठगी करने वाला आरोपी है और पुलिस से बचने के लिए वह सुनसान इलाके में छिपा हुआ था। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर मुंबई पुलिस के हवाले कर दिया। एपीआई भीमसेन गायकवाड के मुताबिक आरोपी ने अपने तीन और साथियों के साथ मिलकर हैदराबाद के एक सराफा व्यवसायी को बेहद कम कीमत पर सोना देने का झांसा दिया। सराफा कारेबारी को मुंबई बुलाया गया और उससे आरोपियों ने 39 लाख रुपए ले लिए। आरोपियों ने ज्वेलर को सोना तो दिया लेकिन जब वापस जाकर उसने जांच की तो वह नकली था। इसके बाद उसने मुंबई के एमआईडीसी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई। मामले में पुलिस ने 1 अक्टूबर को ठगी और धोखाधड़ी के आरोप में एफआईआर दर्ज की और आरोपियों की तलाश में जुट गई। इसके बाद से ही आरोपी पुलिस से बचने की कोशिश कर रहा था। एमआईडीसी पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है। बता दें कि पालघर जिले के गढ़चिंचले में दो साधुओं और उसके ड्राइवर को भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला था।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget