धार्मिक कट्टरता पर भारी पड़ी राम की आस्था

वाराणसी

त्रेता युग में जब रावण के आतंक से पूरी धरा आतंकित थी तब प्रभु श्री राम ने मानवीय अवतार लेकर धरा को आतंक से मुक्त कराया और जब अयोध्या वापस लौटे तो दीपावली मनाई गई। आज पूरे विश्व को धार्मिक आतंकवाद के अंधेरे ने ढक लिया है। ऐसे में प्रभु श्री राम के नाम का प्रकाश ही आतंकवाद के अंधेरे को चुनौती दे सकता है। पिछले 14 वर्षों से साम्प्रदायिक सौहार्द्र, भाईचारा और भारतीय सांस्कृतिक एकता का संदेश दे रही काशी की मुस्लिम महिलाएं अनवरत दीपावली और रामनवमी पर श्रीराम की महाआरती कर रही हैं। लमही के इन्द्रेश नगर के श्रीराम आश्रम में विशाल भारत संस्थान एवं मुस्लिम महिला फाउण्डेशन के संयुक्त तत्वावधान में दीपावली के अवसर पर जुटी मुस्लिम महिलाओं ने हिन्दू महिलाओं के साथ मिलकर भगवान श्रीराम, माता जानकी, लक्ष्मण जी और हनुमान जी की महाआरती कर दुनिया को भारत के विश्व बंधुत्व के संदेश से परिचित कराया। मुस्लिम महिलाओं ने रंगोली बनाया, रंग-बिरंगे दीप सजाये और नाजनीन अंसारी द्वारा उर्दू में रचित श्री राम आरती और श्री राम प्रार्थना का गायन किया।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget