बाहर से आने वाले यात्रियों की जांच शुरू

Corona Test

मुंबई

महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना के सबसे प्रभावित चार राज्यों दिल्ली, गोवा, राजस्थान और गुजरात से आने वाले यात्रियों का जांच करने का निर्णय लिया था । इन राज्यों से आने वाले यात्रियों का रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डे और चेक नाकों पर जांच की जा रही है । बीएमसी ने सब जगह मेडिकल टीमें तैनात की हैं , जो नोडल अधिकारी की देख रेख में यात्रियों की जांच कर रहे हैं । मुंबई आने वाले यात्री जिनमें कोरोना के लक्षण नहीं हैं उन्हें ही प्रवेश दिया जा रहा है । इन राज्यों से महाराष्ट्र में आने वालों को अपनी कोरोना नेगटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य है ।

मुंबई महानगर पालिका ने मुंबई के रेलवे टर्मिनस पर दिल्ली, राजस्थान, गुजरात और गोवा से आने वाले यात्रियों की जांच के कोर्डिनेशन के लिए दो नोडल ऑफिसर्स को नियुक्त किया है, इनमें एक डेप्युटी एक्सिक्यूटिव हेल्थ अफ़सर डॉक्टर संतोष गायकवाड़ और दूसरे डेप्युटी सिक्योरिटी अफ़सर अजित तावड़े शामिल हैं । इनके सुपरविजन में हेल्थ कर्मचारियों की टीम हर रेलवे टर्मिनस पर बाहरी राज्यों से आने वाले मुसाफिरों का कोरोना टेस्ट, कोरोना थर्मल स्क्रीनिंग, पर्सनल डेटा कलेक्शन कर रही है ।

इसके अलावा छह बीएमसी वार्ड के असिस्टेंट कमिश्नर भी इस जांच में भूमिका निभा रहे हैं जिनमें सीएसटी, बान्द्रा, एलटीटी, मुंबई सेंट्रल, बोरीवली और दादर टर्मिनस के वार्ड अफ़सर शामिल हैं। चार राज्यों से हर रोज इन छह टर्मिनस पर करीब 60 हज़ार यात्री आते हैं। हर रेलवे टर्मिनस पर आरटी-पीसीआर टेस्ट और थर्मल स्क्रीनिंग सुविधा मौजूद है। मुसाफिरों का पर्सनल डेटा कलेक्शन के लिए अलग व्यवस्था है। जिस यात्री का बॉडी टेम्परेचर ज्यादा है या कोरोना के लक्षण हैं, उनका तुरंत एंटीजेन टेस्ट किया जा रहा है ।

9779 यात्रियों की जांच, 10 यात्री कोरोना पॉजिटिव

महाराष्ट्र सरकार के आदेश के बाद दिल्ली, गुजरात, राजस्थान और गोवा से आने वाले यात्रियों को कोरोना जांच शुरू कर दी गई है। बुधवार शाम छह बजे तक मुंबई के विविध इलाकों में इन राज्यों से आने वाले 9779 यात्रियों की जांच की गई है। इनमें से 10 यात्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए। सरकार के कर्मचारी इन यात्रियों को अस्पतालों में ले गए।

गौरतलब है कि दिल्ली, गुजरात, राजस्थान और गोवा में कोरोना के दोबारा बढ़ते प्रभाव को देखते हुए सरकार ने सावधानी बरतते हुए मिशन बिगिन अगेन शुरू किया है। इसके तहत महाराष्ट्र के चीफ सेक्रेट्री संजय कुमार ने मिशन बिगिन अगेन का नोटीफिकेशन निकाला। इसमें कहा गया है कि इन चारों राज्यों से महाराष्ट्र में आने वाले यात्रियों को आरटीपीसीआर टेस्ट कराना अनवित्तर्य होगा। जिसके पास रिपोर्ट नहीं होगी, उन्हें स्टेशनों पर उतरने पर जांच करानी होगी। इस आदेश के बाद मुंबई और आसपास के मनपा कमश्निर और जिला अधकिारियों ने रेलवे स्टेशनों, एयरपोर्ट और सड़क मार्ग से राज्य के प्रवेश द्वारों पर यात्रियों की जांच शुरू कर दी है।

मिली जानकारी के अनुसार छत्रपत शिवाजी महाराज टमर्निस पर 1079 यात्रियों की जांच की गई, पर वहां कोई कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला। मुंबई सेंट्रल में 3400 यात्रियों ेकी जांच की गई, पर वहां कोई कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला। दादर में 2000 यात्रियों की जांच की गई, पर वहां एक यात्री कोरोना पाजिटिव मिला। लोकमान्य तलिक टर्मिनस में 315 यात्रियों की जांच की गई, पर वहां तीन यात्री कोरोना पॉजिटिव मिले। बांद्रा टमर्निस में 2047 यात्रियों की जांच की गई, पर वहां पांच यात्री कोरोना पॉजिटिव मिले। बोरीवली में में 938 यात्रियों की जांच की गई, पर वहां एक यात्री कोरोना पॉजिटिव मिला।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget