कांग्रेस पर बिफरे सिब्बल

नई दिल्ली 

देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस काफी दिनों से अंतर्कलह से जूझ रही है। पहले तो दबी-दबी आवाज से विरोध हो रहा था उसके बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का पत्र सामने आया था। ये पत्र कांग्रेस के अध्यक्ष पद को लेकर था। इस पत्र के बाद सीडब्ल्यूसी की बैठक हुई और राहुल गांधी का गुस्सा उन नेताओं पर फूट पड़ा। इस पत्र की अगुवाई कर रहे थे गुलाम नबी आजाद। आजाद पार्टी के शीर्ष नेता हैं लेकिन उनको भी साइडलाइन कर दिया गया। अब कपिल सिब्बल ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा, 'दिक्कत ये है कि राहुल गांधी डेढ़ साल पहले यह बात साफ कर चुके हैं कि वे अब कांग्रेस का अध्यक्ष नहीं बनना चाहते। उन्होंने यह भी कहा था कि मैं नहीं चाहता कि गांधी परिवार का कोई भी व्यक्ति उस पद पर काबिज  

 हो। इस बात के डेढ़ साल बीत जाने के बाद मैं ये पूछता हूं कि कोई राष्ट्रीय पार्टी इतने लंबे समय तक अपने अध्यक्ष के बिना कैसे काम कर सकती है। 

सिब्बल ने कहा कि मैंने पार्टी के भीतर आवाज उठाई थी। हमने अगस्त में चिठ्ठी भी लिखी। लेकिन किसी ने हमसे बात नहीं की। मैं जानना चाहता हूं कि डेढ़ साल बाद भी हमारा अध्यक्ष नहीं है। कार्यकर्ता अपनी समस्या लेकर किसके पास जाएं।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget