सांवले रंग के कारण नहीं मिला था मॉडलिंग असाइनमेंट: चित्रांगदा

chitrangada singh

फिल्म अभिनेत्री चित्रांगदा सिंह ने कहा कि उत्तर भारत में अपने त्वचा के रंग को लेकर वह भेदभाव का शिकार हो चुकी है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इसके चलते उन्हें मॉडलिंग असाइनमेंट भी नहीं दिया गया था। चित्रांगदा सिंह ने अपनी त्वचा के रंग को लेकर भेदभाव का शिकार होने की बात कही है। उन्होंने यह भी कहा कि जब वह बड़ी हो रही थी, तब भी उन्हें इस प्रकार का भेदभाव झेलना पड़ा था और जब वह काम कर रही थी, उस दौरान भी वह इसका शिकार हो चुकी है। पिछले महीने चित्रांगदा सिंह ने इंस्टाग्राम पर कहा था कि वह भूरी है और खुश है। अब अपने हालिया इंटरव्यू में चित्रांगदा सिंह ने कहा है कि त्वचा के रंग को देखकर भेदभाव किया जाता है, लेकिन सभी लोग गोरा रंग देखकर काम नहीं देते। एक इंटरव्यू में चित्रांगदा ने कहा, 'मैं एक लड़की के तौर पर भूरे रंग की त्वचा के साथ जीने का महत्व जानती हूं। ऐसी बात नहीं है कि लोग सीधे आपके मुंह पर ऐसी बातें कह देंगे, आप सिर्फ महसूस कर सकते हैं। मैं इस प्रकार के भेदभाव का शिकार खासकर उत्तर भारत में बड़ी होने के दौरान हो चुकी हूं। चित्रांगदा मुंबई आने से पहले राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में रह चुकी हैं। चित्रांगदा ने यह भी बताया कि किस प्रकार अपनी त्वचा के रंग के कारण उन्हें मॉडलिंग असाइनमेंट नहीं मिला था। चित्रांगदा ने कहा, 'मुझे मॉडलिंग असाइनमेंट में नहीं लिया गया। मेरे कॅरियर के शुरुआती दौर में स्पष्ट रूप से कह दिया गया था कि मैं सांवली हूं, लेकिन इसी ऑडिशन को गुलजार साहब ने देखा और उन्होंने अपने म्यूजिक वीडियो में मुझे लिया। तब मुझे समझ में आया कि हर कोई गोरा रंग ही नहीं देखता'। 

चित्रांगदा जल्द एक शॉर्ट फिल्म में नजर आएंगी। उन्होंने इस फिल्म के डायलॉग और स्क्रीनप्ले भी लिखे हैं। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget