दो पुत्रों के साथ फांसी के फंदे पर झूली महिला

समस्तीपुर 

जिले के विद्यापतिनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत साहिट पंचायत के वार्ड नंबर दस से एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। जहां पुत्रों के साथ एक महिला फांसी के फंदे पर झूल गई। घटना में दोनों की मौत हो गई। इसके बाद इलाके में सनसनी फैल गई है। घटना की सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। थानाध्यक्ष शिवजी पासवान ने बताया कि पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम हेतु समस्तीपुर भेज दिया है। प्रारंभिक तौर पर मृतक के स्वजनों से जो जानकारी मिली है। उसके मुताबिक आर्थिक परेशानी की बात सामने आ रही है। 

जानकारी के अनुसार साहिट पंचायत के वार्ड संख्या दस निवासी नरेश प्रसाद चौरसिया अपनी पत्नी रेणु देवी (40) सहित अपने दोनों पुत्र सत्यम कुमार (12) व मधुर कुमार (10)के साथ सोये थे। अचानक रेणु देवी उठी और आंगन में लगे आम के पेड़ में साड़ी के सहारे पहले अपने दोनों पुत्र सत्यम कुमार व मधुर कुमार को फंदे पर लटकाया। इसके बाद खुद भी उसी आम के पेड़ में साड़ी के फांसी के फंदे पर लटक गई। संयोगवश बड़े पुत्र सत्यम कुमार के पैर के नीचे रखी कुर्सी नहीं हट सकी। जिससे उसकी जान बच गई। वहीं रेणु देवी व उनके पुत्र मधुर कुमार की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। घटना के बाद सत्यम कुमार के चिल्लाने की आवाज पर दौड़े पिता नरेश प्रसाद चौरसिया व पड़ोसियों की मदद से सत्यम की जान बच सकी। आसपास के ग्रामीणों की मानें तो नरेश प्रसाद चौरसिया की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। वह काफी दिनों से विक्षिप्त जैसी हरकत करता रहता है। उपार्जन नहीं करता है। जिससे परिवार में आर्थिक तंगी की स्थिति है। इससे उसकी पत्नी तनाव में रहने लगी थी। शनिवार की देर रात उसने घर के आंगन में आम के पेड़ में पहले 10 साल के मासूम बच्चे को फांसी पर लटकाई और फिर खुद भी फांसी के फंदे पर झूल गई। थानाध्यक्ष शिवजी पासवान ने बताया कि मृतका घर की आर्थिक हालत काफी कमजोर होने के चलते दुखी थी। इसके चलते उसने आत्महत्या की है। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget