कोरोना वैक्सीन ट्रायल में शामिल स्वयं सेवक

दो महीने तक गहन निगरानी में रहेंगे

Corona Vaccine

मुंबई

मनपा द्वारा संचालित केईएम अस्पताल एवं मेडिकल कॉलेज में चल रहे कोरोना वैक्सीन का टेस्ट मंगलवार से बंद कर दिया जाएगा। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और पुणे की सिरम इंस्टीट्यूट के संयुक्त तत्वावधान में निर्माणाधीन 'कोविशिल्ड' वैक्सीन का केईएम अस्पताल में पिछले कुछ महीनों से ट्रायल किया जा रहा है। जिन स्वयंसेवकों को वैक्सीन का ट्रायल डोज दिया गया है उन्हें दो महीने तक गहन निगरानी में रखा जाएगा। इसके परिणाम को लेकर डॉक्टरों में सकारात्मक उत्साह देखा जा रहा है। कोरोना वैक्सीन का ट्रायल खत्म होने के बाद स्वयंसेवकों पर किसी तरह का दुष्प्रभाव नहीं होने तथा अन्य अध्ययन के बाद चरणबद्ध तरीके से वैक्सीन को आम लोगों के लिए उपलब्ध कराने की योजना होगी। दीपावली के माहौल में मुंबई के लोगों के लिए यह एक बड़ी राहत भरी खबर है। केईएम अस्पताल के डीन सजंय देशमुख ने बताया कि कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए अस्पताल में चल रहे कोरोना कोविशिल्ड वैक्सीन का ट्रायल खत्म होने के बाद वैज्ञानिक अगले कदम पर विचार करेंगे। उन्होंने आगे बताया कि वैक्सीन ट्रायल में कुल 180 दिन का समय तय किया गया था। पहले किसी स्वयंसेवक को वैक्सीन देने के बाद दूसरा डोज 28 दिन बाद दिया जाता है। केईएम में कुल 160 लोगों को वैक्सीन का डोज दिया जा गया है। ट्रायल का पहला चरण पिछले महीने खत्म हो गया था, अब मंगलवार को दूसरे चरण का काम भी खत्म हो जाएगा। देशमुख ने विश्वास जताया कि अब तक एक भी स्वयंसेवक को किसी तरह का दुष्परिणाम नहीं दिखाई दिया है। ट्रायल खत्म होने के बाद दो महीने तक स्वयंसेवकों को निगरानी पर रखा जाएगा। केईएम के साथ वैक्सीन का नायर में भी परीक्षण चल रहा है। नायर अस्पताल में कुल 125 स्वयंसेवकों पर चल रहे ट्रायल की भी प्रकिया अगले 15 दिन में खत्म हो जाने की जानकारी नायर के डीन डॉ. रमेश भारमल ने दी। कोरोना वैक्सीन का सफल परीक्षण हो जाने के बाद जल्द ही आम नागरिकों के लिए उपलब्ध हो सकेगा। सिरम इंस्टीट्यूट द्वारा पूरे देश में 1600 स्वयंसेवकों पर कोरोना वैक्सीन का परीक्षण किया जा रहा है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget