नगर क्षेत्र में शामिल हुए गांवों का विकास ठप

प्रतापगढ़

प्रतापगढ़ जनपद में सदर सहित कुछ अन्य ब्लाकों की दर्जनों ग्राम पंचायतें नगर पालिका व नगर पालिका में शामिल हुई हैं। इन तमाम गांवों का अस्तित्व 30 सितंबर के बाद खत्म कर दिया गया, लेकिन खाता बंद नहीं किया गया था। अब इनके खाता संचालन पर रोक लगा दी गई है। हालांकि इन गांवों के नगर पालिका व नगर पंचायतों में शामिल होने से राज्य वित्त, 14वां वित्त का पैसा इस बार नहीं भेजा गया। यहीं वजह है कि गांव में पिछले तीन माह से विकास कार्य ठप पड़ा है। लोगों को उम्मीद थी कि विकास कार्य में तेजी आएगी मगर काम ही रूक गया है।

पंचायत विभाग रखेगा रेकार्ड

सदर ब्लाक के रूपापुर, करनपुर, पूरे ईश्वरनाथ, पूरे केशवराय, रंजीपुर चिलबिला, सगरा, दहिलामऊ, जोगापुर, सोनावा, घाटमपुर, सिपाह महेरी, भुइदहा सहित कुछ अन्य गांवों को नगर पालिका में शामिल किया गया है। इसी तरह से जिले के संडवा चंद्रिका ब्लाक के अंतू देहात, गौरा के नौड़ेरा, बैरमपुर, संड़िला, रोहखुर्द कला, पूरे खरगराय, करका, बरहदा, शिवगढ़ के रूपीपुर और मंगरौरा के धरौली मधुपुर, कोहंड़ौर, भावापुर, रामापुर व लाखीपुर सहित कुल 34 गांवों को नगर पालिका और नगर पंचायत में शामिल किया गया है। इन गांवों का विकास कार्य अब नगर पालिका व नगर पंचायत कराएगी। इन गांवों का रिकार्ड पंचायत विभाग अपने पास रखेगा। इसके लिए सभी एडीओ पंचायत व सचिव को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया गया है। डीपीआरओ रविशंकर द्विवेदी ने बताया कि जिन गांवों को नगर पालिका व नगर पंचायतों में शामिल किया गया है, उनका खाता बंद कर दिया गया है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget