तबाही मचाने का पाकिस्तानी मंसूबा फिर विफल: मोदी

Modi

नई दिल्ली 

जम्मू-श्रीनगर के नगरोटा में हुई मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के चार संदिग्ध आतंकवादियों के मारे जाने के बाद पीएम मोदी ने शुक्रवार को एक अहम बैठक की। इस बैठक में पीएम मोदी के साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल के अलावा कई अधिकारी भी मौजूद थे। इस बैठक के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट्स करके पाकिस्तान को 'कड़ा संदेश' भी दिया। सूत्रों की मानें तो चारों आतंकी मुंबई हमले की बरसी पर बड़ा हमला करने की प्लानिंग कर रहे थे। 

सरकारी सूत्रों के अनुसार, नगरोटा एनकाउंटर में ढेर हुए चारों आतंकवादी मुंबई हमले (26/11) की बरसी के मौके पर बड़ा हमला करने की योजना बना रहे थे। समीक्षा बैठक में नगरोटा एनकाउंटर पर विस्तार से चर्चा की गई। सूत्रों के अनुसार इस बैठक में अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित किए गए मसूद अजहर के नाम पर काफी चर्चा हुई। 

इन चारों आतंकी को पाकिस्तान की ओर से चुनाव को बाधित करने के मकसद से भेजा गया था। यह साजिश खूंखार जैश सरगना मसूद अजहर के भाई रऊफ लाला ने रची थी, जोकि फिलहाल पाकिस्तान में है। 

मौत के घाट उतारे गए चारों आतंकियों ने भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा से मंगलवार और बुधवार की रात घुसपैठ की थी। जिनकी मदद मसूद अजहर के भाई ने की थी। रऊफ कुछ दिनों से जम्मू के सांबा और हीरानगर सेक्टर के उस पार पाकिस्तान के शक्करगढ़ इलाके में देखा गया था। 

बैठक के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ''पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े चार आतंकवादियों को मार गिराया जाना और उनके पास बड़ी मात्रा में हथियारों और विस्फोटकों की मौजूदगी संकेत देती है कि वे तबाही और विनाश को भड़काने वाले थे, लेकिन उनके प्रयासों को एक बार फिर से विफल कर दिया गया।'' 

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि हमारे सुरक्षा बलों ने एक बार फिर अत्यंत बहादुरी दिखाई है। सतर्कता के कारण उन्होंने जम्मू-कश्मीर में जमीनी स्तर के लोकतांत्रिक अभ्यासों को टारगेट करने के लिए रची गई नापाक साजिश को पराजित कर दिया। 

इससे पहले, जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने एनकाउंटर के बारे में कहा था कि आतंकवादी बड़ी साजिश को अंजाम देने के इरादे से आए थे, जिसे नाकाम कर दिया गया। सुरक्षा बलों की इस सफलता पर प्रतिक्रिया देते हुए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा था, ''कोई भी बाहरी ताकत शांति और प्रगति के हमारे रास्ते से हमें नहीं भटका सकती।' वहीं, कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने श्रीनगर में कहा कि चार आतंकवादी इस महीने के अंत में होने वाले जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव की प्रक्रिया को बाधित करना चाहते थे क्योंकि पाकिस्तान राजनीतिक प्रक्रिया में बाधाएं डालने का प्रयास कर रहा है। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget