चंद्रकांत पाटिल ने बोला सरकार पर हमला


मुंबई

राज्य के मुख्यमंत्री और शिवसेना पक्ष प्रमुख उध्दव ठाकरे का जन्म सरकार चलाने के लिए नहीं बल्कि पक्ष को चलाने के लिए हुआ है। क्योंकि उध्दव ठाकरे को सरकार चलाने के लिए एक दिन का भी प्रशासनिक अनुभव नहीं है। बुधवार को कोल्हापुर में संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने यह बात कही। पाटिल ने कहा कि ठाकरे के पास सरकार चलाने के लिए आवश्यक अनुभव नहीं था,लेकिन अचानक जिम्मेदारी के कारण वह भ्रमित है। जिसके के कारण राज्य का बड़ा नुकसान हो रहा है। इसमें सबसे अधिक नुकसान मराठा समाज का हुआ है उन्हें इस सरकार में आरक्षण के कारण शिक्षा के गैर-आरक्षण के खिलाफ विरोध किया और कहा कि सरकार को विशेषज्ञों से परामर्श करना चाहिए। उद्धव ठाकरे पार्टी संगठन को चलाने के लिए सही हैं। लेकिन सरकार को चलाने के लिए उनके पास अनुभव की कमी है,क्योंकि मुख्यमंत्री बनने से पहले उध्दव ठाकरे कभी नगरसेवक पद पर भी नही रहे। शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक के घर और कार्यालयों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा की गई कार्रवाई पर शिवसेना सांसद और प्रवक्ता संजय राउत द्वारा भाजपा पर किया गया हमला और 100 भाजपा नेताओं की सूचि देने के बयान का जबाब देते हुए पाटिल ने कहा कि सरकार और शिवसेना का न तो किसी ने हाथ न ही पांव बांधक रखा है। बात रही जुबान की तो भाजपा के खिलाफ वो हमेशा चलता रहता है। लेकिन मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे उसे रोक नहीं सकते। पाटिल ने कहा कि राउत के बयानबाजी से शिवसेना को कितना नुकसान हुआ है यह चुनाव के बाद दिखाई देगा। यह मुद्दा भाजपा का नहीं बल्कि शिवसेना का है। उपमुख्यमंत्री अजित पवार द्वारा भाजपा को लेकर दिए गए बयान का जबाब देते हुए चंद्रकांत पाटिल ने अजित पवार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उनके बयान पर क्या कहना। बतादें कि राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने मंगलवार को विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी पार्टी के नेता और कार्यकर्ता पार्टी छोड़कर न जाए इसलिए बार -बार विपक्ष राज्य में सरकार बनने की बात कर रही है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget