बिहार चुनाव में हार पर कांग्रेस में रार

कपिल सिब्बल पर भड़के अधीर रंजन

Adhir Sibbal

पटना

बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन की हार का ठीकरा कांग्रेस पर फूटने के बाद पार्टी के नेता आपस में ही भिड़ रहे हैं। वरिष्ठ वकील और कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल ने पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठाए हैं। लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने उन्हें आड़े हाथों लिया। अधीर ने कहा कि जिन लोगों ने बिहार चुनाव और विभिन्न राज्यों में हुए उपचुनावों में कोई योगदान नहीं दिया, उन्हें कुछ भी बोलने से पहले सोचना चाहिए। उन्होंने कहा कि बिना कुछ किए बोलने का मतलब आत्मविश्लेषण नहीं है।

चौधरी ने कहा, 'कपिल सिब्बल ने पहले भी इस बारे में बात की थी। वह कांग्रेस पार्टी और आत्मनिरीक्षण (आत्मविश्लेषण) की जरूरत के बारे में बहुत चिंतित हैं। लेकिन हमने बिहार, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश या गुजरात चुनावों में उनका चेहरा नहीं देखा।

सलमान खुर्शीद ने भी सिब्बल पर उठाए सवाल

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने बिहार विधानसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन को लेकर सवाल करने वाले नेताओं पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उनके कई ऐसे पार्टी सहयोगी हैं जो आदतन संदेह करने वाले हैं और समय-समय पर बेचैनी से घिर जाते हैं। खुर्शीद ने कहा कि अगर लोग कांग्रेस की उदारवादी मूल्यों की राजनीति को समर्थन नहीं दे रहे हैं तो पार्टी को बीच का रास्ता अपनाने के बजाय लंबे संघर्ष के लिए तैयार रहना चाहिए। उन्होंने मुगल बादशाह बहादुर शाह जफर की एक शायरी का उल्लेख करते हुए कहा,न थी हाल की जब हमें खबर, रहे देखते औरों के ऐबो हुनर, पड़ी अपनी बुराइयों पर जो नजर, तो निगाह में कोई बुरा न रहा... । बहादुर शाह ज़फर और उनके ये शब्द हमारे पार्टी के उन कई सहयोगियों के लिए सार्थक उपमा की तरह हो सकते हैं जो समय-समय पर बेचैनी से घिर जाते हैं । पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा,जब हम अच्छा करते हैं, तो निश्चित रूप से कुछ हद तक वे इसे स्वीकार कर लेते हैं । लेकिन जब हम कम प्रदर्शन करते हैं और बुरा भी नहीं करते हैं तो वे तत्काल छींटाकशी करने लगते है। उन्होंने पार्टी के प्रदर्शन पर सवाल करने वाले नेताओं को आदतन संदेह करने वाला करार दिया ।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget