पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए हरड

Harad

हरड़, जिसे हरीतकी भी कहा जाता है, एक प्रसिद्ध जड़ी-बूटी है। यह त्रिफला में पाए जाने वाले तीन फलों में से एक है। भारत में इसका इस्तेमाल घरेलू नुस्खों के तौर पर खूब किया जाता है। आयुर्वेद में तो इसके कई चमत्कारिक फायदे बताए गए हैं। दरअसल, इसे त्रिदोष नाशक औषधि माना जाता है। यह पित्त के संतुलन को तो बनाए रखता ही है, साथ ही यह कफ और वात संतुलन को भी बनाकर रखता है। कई बीमारियों में इसे बेहद ही फायदेमंद माना जाता है, जिसमें पाचन से जुड़ी समस्याएं भी शामिल हैं। आइए जानते हैं इसके सेवन से होने वाले जबरदस्त फायदों के बारे में... 

नियमित रूप से हरड़ का सेवन आपके पाचन तंत्र को सुधार सकता है। इसे गैस, अपच और कब्ज जैसी पेट की कई समस्याओं में कारगर माना गया है। एक कप गर्म पानी में 1-3 ग्राम हरड़ का सेवन आपको पाचन संबंधी परेशानियों में राहत दिला सकता है। 

हरड़ का सेवन उल्टी में भी राहत दिला सकता है। अगर आपको उल्टी जैसा महसूस हो रहा है तो हरड़ का सेवन कर सकते हैं। इससे यह समस्या दूर हो सकती है। इसके अलावा दस्त की समस्या में भी हरड़ बेहद फायदेमंद होता है। आप दस्त होने पर हरड़ की चटनी बनाकर खा सकते हैं। इससे राहत मिलेगी। 

बवासीर की समस्या में भी हरड़ का इस्तेमाल फायदेमंद हो सकता है। यह बवासीर में होने वाले दर्द को कम करने अ ौ र रक्तस्राव को रोकने में मदद करता है। नियमित रूप से इसका इस्तेमाल आसानी से मल त्यागने में उपयोगी हो सकता है। 

वजन घटाने में भी हरड़ काफी लाभदायक माना जाता है। इसके अलावा दिल के रोगों से बचने के लिए नियमित रूप से इसका सेवन करें। ब्लड शुगर का स्तर भी नियमित बनाए रखने के लिए हरड़ का सेवन किया जा सकता है। इसका उपयोग सिर दर्द और बदन दर्द आदि में भी किया जाता है। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget