अंतिम चरण में कई दिग्गजों की किस्मत दांव पर

पटना

बिहार सरकार के बड़ी संख्या में मंत्रियों तथा कई दिग्गज राजनेताओं के चुनावी अखाड़े में उतरे होने से बिहार विधानसभा चुनाव का तीसरा और अंतिम चरण बेहद खास हो गया है। इस चरण में सरकार के 11 मंत्रियों की किस्मत का फैसला होना है।

हाल ही दिवंगत हुए नीतीश मंत्रिमंडल के दो सदस्य कपिलदेव कामत की बहू मीना कामत तो विनोद कुमार सिंह की पत्नी निशा सिंह की उम्मीदवारी पर भी जनता इसी चरण में फैसला करेगी। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, विपक्ष के कद्दावर नेता अब्दुलवारी सिद्दिकी, सीपीआई के राज्य सचिव रामनरेश पांडेय, 11वीं बार चुनावी मैदान में उतरे पूर्व मंत्री रमई राम, जबकि वीआईपी प्रमुख और पहली बार विस चुनाव लड़ रहे मुकेश सहनी और पूर्व सांसद अश्वमेध देवी सरीखे राजनेता इसी चरण में चुनाव लड़ रहे हैं।

विदित हो कि वर्तमान सरकार के 31 मंत्रियों में 26 विधानसभा के सदस्य हैं। इनमें से 24 चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, सूचना मंत्री नीरज कुमार और भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी विधान परिषद के सदस्य हैं। पहले चरण में आठ, जबकि दूसरे चरण में चार मंत्री चुनाव मैदान में थे। तीसरे चरण में जो 12 मंत्री चुनाव लड़ रहे हैं, उनमें 8 जदयू, जबकि चार भाजपा के हैं। जदयू के मंत्रियों में सुपौल से बिजेन्द्र प्रसाद यादव, मधेपुरा के आलमनगर से नरेन्द्र नारायण यादव, सिंघेश्वर (सु.) से रमेश ऋषिदेव, सिकटा से खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद, लौकहा से लक्ष्मेश्वर राय, रूपौली से बीमा भारती, दरभंगा जिले के बहादुरपुर से मदन सहनी और कल्याणपुर (सु.) सीट से महेश्वर हजारी चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं भाजपा कोटे के मंत्रियों में मोतिहारी से प्रमोद कुमार, मुजफ्फरपुर से सुरेश शर्मा, मधुबनी जिले के बेनीपट्टी से विनोद नारायण झा और बनमनखी सीट से कृष्ण कुमार ऋषि शामिल हैं।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget