डीएनए टेस्ट से साबित होगा पत्नी 'बेवफा' है या नही

DNA test

प्रयागराज

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जहां तलाक के तीन साल बीत जाने के बाद एक महिला ने मायके में बच्चे को जन्म दिया। महिला ने दावा किया कि बच्चा उसके पति का ही है, जबकि पति ने इस बात से साफ इंकार करते हुए कहा कि बच्चा उसका कैसे हो सकता है, जबकि तीन साल से उसके पत्नी से संबंध ही नहीं हैं।

हमीरपुर के रहने वाले इस दंपति का फैमिली कोर्ट में 3 साल पहले तलाक हो चुका है। इस मामले में पति राम आसरे ने फैमिली कोर्ट में डीएनए टेस्ट की मांग करते हुए अर्जी दाखिल की थी। लेकिन फैमिली कोर्ट ने उसकी अर्जी को खारिज कर दिया था। इसके बाद मामला इलाहाबाद हाई कोर्ट जा पहुंचा।

जहां इलाहाबाद हाई कोर्ट के जस्टिस विवेक अग्रवाल की एकल पीठ ने मामले की सुनवाई की और अहम फैसला सुनाते हुए आदेश दिया कि डीएनए टेस्ट से साबित हो सकता है कि पत्नी बेवफा है या नहीं। हाई कोर्ट ने कहा कि राम आसरे बच्चे का पिता है या नहीं, यह साबित करने के लिए डीएनए टेस्ट सबसे बेहतर तरीका है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget