रिपब्लिक टीवी पर शिकंजा

पुलिस ने डेस्क की जानकारी मांगी


मुंबई 

रिपब्लिक टीवी के खिलाफ मुंबई पुलिस ने एक और नोटिस जारी किया है। मुंबई पुलिस में कथित 'बगावत' की खबर चलाने के बाद चैनल के खिलाफ मुंबई के एनएम जोशी मार्ग पुलिस स्टेशन में केस दर्ज हुआ है। इसमें चैनल पर मुंबई पुलिस की छवि खराब करने और पुलिसकर्मियों में असंतोष पैदा करने के प्रयास का आरोप है। 

शुक्रवार को मुंबई पुलिस की ओर से कहा गया कि उन्होंने चैनल से जुड़े चार लोगों से पूछताछ की है। एक अधिकारी ने बताया कि शिवानी गुप्ता (वरिष्ठ सहयोगी संपादक) से पूछताछ के दौरान, हमें पता चला कि उन्होंने न्यूज में वही न्यूज कंटेंट पढ़ा जो उन्हें टेलीप्रॉम्प्टर सॉफ्टवेयर पर आउटपुट शिफ्ट इंचार्ज या आउटपुट डेस्क द्वारा दिया गया था। जिसके बाद एक नोटिस जारी कर आउटपुट डेस्क और शिफ्ट-प्रभारी से जुड़ा कुछ विवरण मांगा गया है। 

न्यूज रूम की जानकारी शेयर नहीं करेंगे 

चैनल ने इसे लेकर कुछ ट्वीट भी किए हैं और लोगों से इसके लिए समर्थन की अपील की है। रिपब्लिक ने लिखा कि हम मुंबई पुलिस से न्यूज रूम की कोई जानकारी शेयर नहीं करेंगे। मुंबई पुलिस की यह कार्रवाई अवैध है। हम मुंबई पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह को न्यूज रूम तक आकर अपनी रणनीति का इस्तेमाल करने नहीं देंगे। न्याय की इस लड़ाई में अपना समर्थन दें। 

इससे पहले, रिपब्लिक चैनल ने एक बयान जारी कर कहा था कि पुलिस द्वारा दिए गए दूसरे नोटिस में न्यूज डेस्क के हर सदस्य का फोन नंबर और पता पूछा गया है। इसके अलावा न्यूज रूम के सॉफ्टवेयर की डिटेल्स और लॉगइन गतिविधियां, ब्रॉडकास्ट रनडाउन डिटेल्स, स्टाफ शिफ्ट टाइमिंग, न्यूज रूम में काम करने वाले हर व्यक्ति की भूमिका और जिम्मेदारियों से जुड़ी जानकारी मांगी है। चैनल ने कहा कि मुंबई पुलिस न्यूजरूम में घुसना चाहती, वह उन्हें इसकी अनुमति नहीं देगा। 

पुलिस की सफाई 

चैनल के इस आरोप पर संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून और व्यवस्था) विश्वास नागरे पाटिल से संपर्क किया गया। पाटिल ने कहा कि हमने उन्हें एक और नोटिस जारी किया है, लेकिन उनसे इतने सारे डिटेल्स नहीं मांगे जीतने वे बता रहे हैं। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget