ओवैसी फैक्टर ने बिगाड़ दिया महागठबंधन का खेल!

 पटना 

बिहार का सीमांचल वह इलाका कहलाता है जो नेपाल और पश्चिम बंगाल की सीमा से लगता हुआ पूर्वोत्तर भारत से जुड़ता है । सियासी समीकरण के लिहाज से महत्वपूर्ण इसलिए है, क्योंकि यहां के चार जिलों- पूर्णिया में 35 फीसदी, कटिहार में 45 फीसदी, अररिया में 51 फीसदी और किशनगंज में 70 फीसदी मुस्लिम वोट हैं । अब जो चुनाव परिणाम/रुझान सामने आ रहे हैं इसके अनुसार सीमांचल की 24 सीटों में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने महागठबंधन का खेल बिगाड़ दिया है और 24 सीटों में महज 5 पर महागठबंधन आगे है, जबकि 11 पर एनडीए को बढ़त है । इसके अलावा आठ सीटें अन्य को मिल रही हैं, जिनमें से ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम तीन सीटों पर आगे है। 

 रुझानों के अनुसार वैसे तो यहां मुकाबला एनडीए और महागठबंधन के बीच ही देखने को मिल रहा है, लेकिन मैदान में ओवैसी फैक्टर एनडीए के पक्ष में काम करता दिख रहा है। ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम भी महागठबंधन और एनडीए को चुनौती दे रही है। पिछले विधानसभा चुनाव की बात करें तो सीमांचल की 19 में से 12 सीटें आरजेडी और कांग्रेस ने जीती थीं। 

खबर लिखे जाने तक फिलहाल ओवैसी की ओवैसी की पार्टी अमौर और कोचाधामन सीट पर आगे चल रही है। हालांकि, कई सीटों पर ओवैसी भले ही जीतते नजर न आ रहे हैं. बता दें कि सीमांचल में इलाके की 24 सीटों में से महागठबंधन की ओर से आरजेडी 11, कांग्रेस 11, भाकपा-माले 1 और सीपीएम 1 सीट पर चुनाव लड़ रही है। वहीं, एनडीए की ओर से भाजपा 12, जेडीयू 11 और हम एक सीट पर चुनावी किस्मत आजमा रही है। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget