हिंद महासागर में भारत करेगा ब्रह्मोस की आतिशबाजी

 

Missile

नई दिल्ली

चीन से जारी तनाव के बीच भारत इसी माह के अंत तक अपनी ताकत को आजमाने के लिए ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइलों के ताबड़तोड़ परीक्षण करने वाला है। नवंबर के आखिरी हफ्ते में तीनों सशस्त्र सेनाएं हिंद महासागर क्षेत्र में स्वदेशी मिसाइलों को लांच करेंगी।

सरकारी सूत्रों के अनुसार इस महीने के अंत में थल सेना, नौसेना और वायुसेना ब्रह्मोस के कई परीक्षण करेंगे। इनका मकसद हिंद महासागर में इन मिसाइलों से कई लक्ष्यों को भेदना होगा। ब्रह्मोस के इन परीक्षणों से मिसाइल प्रणाली के प्रदर्शन में और सुधार आएगा और यह सांकेतिक रूप में पड़ोसी देशों को हद में रहने की चेतावनी का भी काम करेगा।

डीआरडीओ की विकसित मिसाइल का रेंज 298 से बढ़ाकर 450 किमी किया

ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) की विकसित इस मिसाइल का रेंज हाल ही में 298 किमी से बढ़ाकर 450 किमी किया गया है। कम दूरी की रैमजेट, सुपरसॉनिक क्रूज मिसाइल विश्व में अपनी श्रेणी में सबसे तेज गति वाली है। इसे पनडुब्बी से, पानी के जहाज से, विमान से या जमीन से भी छोड़ा जा सकता है। यह रूस की पी-800 ओंकिस क्रूज मिसाइल की प्रौद्योगिकी पर आधारित है। ब्रह्मोस के समुद्री तथा थल संस्करणों का पहले ही सफलतापूर्वक परीक्षण किया जा चुका है। भारतीय सेना, वायुसेना एवं नौसेना को सौंपा जा चुका है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget