म्यूचुअल फंड को तीन स्तरीय सुरक्षा

mutual funds

नई दिल्ली

पूंजी बाजार नियामक सेबी ने म्यूचुअल फंड निवेशकों के निवेश को और सुरक्षित बनाने के लिए दो नए नियम लाए हैं। सेबी ने निश्चित आय वाले उत्पादों में निवेशकों के लिए सुरक्षा की एक अतिरिक्त लेयर और इक्विटी निवेशकों को अपने जोखिम की प्राथमिकता के अनुसार निवेश करने के लिए एक अतिरिक्त श्रेणी दी है। सेबी ने निश्चित आय वाले प्रतिभूतियों में तरलता जोखिम को मान्यता दी है।

बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि सेबी के इस कदम से निवेशकों को अपने डेट म्यूचुअल फंड पर मिलने वाला ब्याज और जोखिम को पता लगाना आसान होगा। सेबी ने सभी ओपन-एंडेड डेट फंडों को नकदी, ट्रेजरी बिल और सरकारी प्रतिभूतियों जैसे निवेश माध्यमों में अपनी संपत्ति का 10ज् कम से कम निवेश करना बाध्य कर दिया है। यह बदलाव म्यूचुअल फंड निवेशकों को तीन स्तरीय सुरक्षा देने का काम करेगा। पहला तरलता जोखिमों से सुरक्षा, कैश बफर, सरकारी प्रतिभूतियों जैसे तरल संपत्ति और एएए-रेटेड प्रतिभूतियां में निवेश की सुविधा प्रदान करेगा। यह निवेशकों को किसी फंड के जोखि को आंकने की की क्षमता प्रदान करेगा। अगर कोई फंड कम-रेटेड पोर्टफोलियो रखता है तो वह अपने 10 प्रतिसत संपत्ति का इस्तेमाल नहीं कर पाएगा। इसके साथ ही डेट फंडों में जोखिम प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित रखने के लिए सेबी ने सभी ओपन-एंडेड डेट फंडों को समय-समय पर जोखिम परीक्षण करने की आवश्यकता को बढ़ाया है। यह शुरू में केवल लिक्विड फंड श्रेणी के लिए अनिवार्य था।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget