दीदी के 'किले' पर शाह की चढ़ाई

Amit Shah

कोलकाता

पश्चिम बंगाल में अपने तीन दिवसीय दौरे के आखिरी दिन मीडिया को संबोधित करने पहुंचे भाजपा नेता और गृहमंत्री अमित शाह ने ममता सरकार पर जमकर निशाना साधा।

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष शाह ने कहा कि ममता बनर्जी को 10 साल पहले मां, माटी और मानुष के नारे पर वोट दिया गया था, लेकिन 10 साल में ये बातें तुष्टिकरण की सियासत में बदल गईं। शाह ने कहा कि ममता बनर्जी का लक्ष्य है कि वह अगले कार्यकाल में अपने भतीजे को यहां का सीएम बना दें। लेकिन यहां के लोग नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में परिवर्तन चाहते हैं।

शाह ने कहा कि मैं बंगाल के लोगों को आश्वस्त करने आया हूं कि पांच साल में सोनार बांग्ला बनाने का लक्ष्य पूरा किया जाएगा। शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल के लोगों ने कांग्रेस, वाम दलों और टीएमसी को मौका दिया है। पश्चिम बंगाल में प्रशासन का राजनीतिकरण किया गया है, इंस्टीट्यूशनल करप्शन किया जा रहा है और राजनीति का अपराधीकरण कर दिया गया है।

पश्चिम बंगाल में तुष्टिकरण से बंगाल की जनता के एक बड़े वर्ग में दूसरे दर्जे का नागरिक होने का भाव पैदा हो गया है। पश्चिम बंगाल में तीन कानून हैं, एक अपने भतीजे के लिए, दूसरा वोट बैंक और तीसरा आम आदमी के लिए। कानून की पुस्तक में एक कानून है, लेकिन यहां लागू करने में तीन तरह का कानून देखने को मिलता है।

शाह ने यहां पर ममता बनर्जी से सात सवाल पूछे। शाह ने पूछा कि बंगाल सरकार ने 2018 के बाद एनसीआरबी को राज्य में अपराध के आंकड़े क्यों नहीं भेजे। आखिर सरकार क्या छिपाना चाहती है? शाह ने कहा कि 2018 में महिलाओं के खिलाफ अपराध में तीसरे नंबर पर बंगाल रहा है। बलात्कार, एसिड अटैक के मामलों में पहले नंबर रहा। गायब महिलाओं को ना ढूंढ़ पाने के मामले में देश में नंबर वन रहा। ममता दीदी क्या जवाब देंगी कि बंगाल की महिलाएं क्यों असुरक्षित हैं। ममता बनर्जी को मुझे सवाल करने के बजाय खुद चिंतन करना चाहिए।

'22 सीट का लक्ष्य रखा तो लोग हंसते थे'

शाह ने कहा कि जब मैंने लोकसभा चुनाव में 22 सीट का लक्ष्य रखा तो लोग हंसते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है। हम 200 सीट जीतकर यहां सरकार बनाने जा रहे हैं। नड्डा जी के नेतृत्व में हम पश्चिम बंगाल के चुनाव को काफी गंभीरता से ले रहे हैं, क्योंकि इससे देश की सुरक्षा का उद्देश्य भी जुड़ा हुआ है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget