150 गन्ना किसानों के खिलाफ केस दर्ज

मुंबई

महाराष्ट्र की सत्ता पर काबिज महाविकास आघाड़ी सरकार जहां एक तरफ देशव्यापी किसान आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ खुद उनके शासित राज्य में किसानों के खिलाफ केस दर्ज हो रहे हैं। मामला औरंगाबाद का है। यहां चीनी विभाग के क्षेत्रीय सहायक निदेशक के कार्यालय के बाहर बिना अनुमति इकठ्ठा होने पर पुलिस ने कम से कम 150 गन्ना किसानों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। एक पुलिस अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी। कोरोना वायरस संक्रमण के चलते बड़ी संख्या में लोगों के एकत्रित होने पर पाबंदी है।

उन्होंने बताया कि घटना शुक्रवार की है। गन्ना किसान सहायक निदेशक के कार्यालय के बाहर इकठ्ठा हुए और उन्होंने चीनी सहकारी फैक्टरी के बैंक खाते में जमा किसानों का धन जारी करने की मांग की। अधिकारी ने बताया कि अधिकतर किसान जिले के गंगापुर और लासूर इलाके से थे। उन्होंने बताया कि किसानों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। एक अधिकारी ने बताया था पिछले महीने औरंगाबाद पुलिस ने भाजपा विधायक प्रशांत बांब और 15 अन्य के खिलाफ चीनी फैक्टरी में किसानों द्वारा जमाए कराए गए नौ करोड़ से अधिक रुपए कथित रूप से ऐसे लोगों के खाते में जमा करने पर मामला दर्ज किया था, जो इससे संबंधित नहीं थे। बांब ने अपने पर लगे आरोपों से इंकार किया है। वह जिले में गंगापुर निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं और गंगापुर सहकारी चीनी फैक्टरी के अध्यक्ष भी हैं।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget