सिटी ग्रुप ने 90 करोड़ डॉलर की रकम के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया

citi bank

मुंबई 

सिटीबैंक के नॉर्थ अमेरिकन लोन प्रमुख विन्सेन्ट फैरेल उन्होंने कहा कि वह फंड लौटा देंगें। अगर यह साबित हो जाए कि उन्हें ऐसा करने के लिए कहा गया था। फंड को ट्रांसफर करने के लिए अप्रूवर फ्रैटा ने कहा कि वह इस तरह की गलती का पता चलने पर हैरान और अचंभित हैं सिटी बैंक ने रेवलॉन के कर्ज एजेंट के रूप में कार्य करते हुए 7.8 मिलियन डॉलर ब्याज देने के बजाय रेवलॉन के कर्जदाताओं को 893 मिलियन डॉलर का पेमेंट कर दिया सिटीग्रुप इंक ने बुधवार को अपनी आधा बिलियन डॉलर की रकम को वापस हासिल करने के लिए कोर्ट का रुख किया है। सिटी ग्रुप का कहना है कि इसकी गलती से सौंदर्य प्रसाधन कंपनी रेवलॉन इंक के कर्जदाताओं को चुकाने के लिए इसने खुद का ही लगभग 90 करोड़ डॉलर की रकम का इस्तेमाल कर लिया। 


 ग्राहकों और बैंकों में नया नजरिया 

मैनहट्टन फेडरल कोर्ट में इस तरह का बड़ा ही दिलचस्प मामला आने से वॉल स्ट्रीट बैंकों और उनके ग्राहकों के साथ रिश्तों में बिल्कुल नया नजरिया देखने को मिल सकता है। इससे अब बैंकों को यह सुनिश्चित करने के बाद ही कोई कदम उठाना चाहिए कि फंड का ट्रांसफर कितना और कैसे हो रहा है। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget