मुंबई में भारत बंद का आंशिक असर

 मुंबई

मुंबई में भारत बंद का आंशिक असर देखा गया। बंद के दौरान उपनगरीय रेल, बेस्ट बसें, रिक्शा और ऑटो सड़कों पर आम दिनों की तरह दौड़ते रहे। कई जगहों पर किसानों के समर्थन में रैलियां निकाली गई तो नवी मुंबई का एपीएमसी बाजार पूरी तरह बंद रहा। कुछ जगहों पर दुकानें अवश्य बंद रहीं। बंद के एलान को देखते हुए पुलिस की सुरक्षा को भी कई जगहों पर बढ़ा दिया गया था। बंद के दौरान कहीं पर भी हिंसा कि खबर सामने नहीं आई। बंद की वजह से वर्ली, प्रभादेवी, परेल सहित हिंदमाता मार्केट सहित कुछ अन्य जगहों के बाजार बंद रहे।

सामान्य रहा पब्लिक ट्रांसपोर्ट

मुंबई में उपनगरीय ट्रेनों और बसों सहित सार्वजनिक परिवहन सेवाएं मंगलवार को किसानों द्वारा आहूत भारत बंद के बावजूद लगभग सामान्य रहीं। किसानों ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ मंगलवार को भारत बंद का आह्वान किया था। मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) शिवाजी सुतार ने बताया कि लोकल के साथ-साथ राज्य से बाहर जाने वाली ट्रेनों की सेवाएं सामान्य रही। टैक्सी और ऑटो-रिक्शा यूनियन के नेताओं ने बताया कि उनकी सेवाएं भी सामान्य रहीं।

mumbai bandh

बेस्ट की 85 फीसदी बसें चलीं

बृहन्मुंबई विद्युत आपूर्ति एवं यातायात (बेस्ट) के प्रवक्ता ने बताया कि मंगलवार को उनकी करीब 85 प्रतिशत बसें चलीं। उन्होंने कहा कि हमारी 3,435 बसों में से 2,913 बसें चलीं। महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) के जनसंपर्क अधिकारी अभिजीत भोंसले ने बताया कि राज्य में बसों का संचालन सामान्य रहा। केवल कुछ इलाकों में यात्री कम होने या एहतियाती उपायों के मद्देनजर बसें थोड़ी कम चलीं। भोसले ने कहा कि राज्य में अभी तक किसी अप्रिय घटना की कोई खबर नहीं है। ट्रक ऑपरेटरों ने कहा कि माल की आवाजाही एक हद तक प्रभावित हुई, क्योंकि कई ट्रक चालकों ने बंद के मद्देनजर गाड़ियां नहीं चलाई।

दूध, फल, सब्जियों के परिवहन को छूट

मुंबई में आरे, महानंद, अमूल जैसे दूध की बिक्री सुचारू रूप से हुई। बाहर से भी दूध के टैंकर पहुंचे। मुंबई में दूध की आपूर्ति पर कोई खास फर्क नहीं पड़ा। महाराष्ट्र राज्य ट्रक टेंपो टैंकर वाहतूक संघ के सचिव दया नटकर ने कहा कि दूध, सब्जियों और फलों जैसी आवश्यक वस्तुओं के परिवहन को बंद से छूट दी गई। टैक्सी यूनियन नेता एएल क्वाड्रोस ने बताया कि टैक्सियां सामान्य रूप राज्य में चली, क्योंकि कोरोना वायरस की वजह से पहले ही इस क्षेत्र को काफी नुकसान हुआ है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget