शिशु की नाक है बंद तो करें ये घरेलू उपचार

 

Baby

शिशु जब छोटा होता है और उसे दुनियाभर की परेशानियां घेर लेती हैं तो मां-बाप की चिंताऔर भी ज्यादा बढ जाती है। ऐसे में अगर बच्चा1-2 साल काहै और उसकी नाकसर्दी-जुखाम की वजहसे बंद हो जाए तो घबराएँ नहीं, जुकाम के घरेलू उपाय आप के शिशु के बंद नाक को खोलने में सहायता करेंगे। सच तो यह है की नवजात बच्चे और छोटे बच्चेको सर्दी, जुकाम और बुखार होनाभी एक तरीका है जिसके जरिये बच्चेके शरीर कारोग प्रतिरोधक तंत्र अपने आप को विषाणुओं से लड़ने में सक्षम बनता है। यूँ कहें तो जन्मके समय शिशु की रोग प्रतिरोधक तंत्र बहुत कमजोर होती है या नहीं के बराबर होती है। इसीलिए शिशु हलके से भी संक्रमण के संपर्क में आने से बीमार हो जाता है।
 

लेकिन हर बार जब शिशु का शरीर संक्रमण से लड़ कर फिर से ठीकहोता है तो उसकी रोग प्रतिरोधक तंत्र पहले से कहीं जयादा ताकतवर, मजबूत और सक्षम होती है। बीमार बच्चेकी देखरेख, माँ-बाप एवं उनकी देखभाल करने वालों के लिए समान रूप से मुश्किल हो सकती है ।आइये जानते हैं ऐसे आसान से घरेलू उपचार जो शिशु की सर्दी जुखाम को पल भर में ठीककर देगा। 

नेसल ड्रॉप 

शिशु की बंद नाक खोलते के लिये उनके नाकके दो नों छेद में दो-दो बून्द नेसल ड्राप की डाल दें। इसके बाद सक्शन बल्ब/ड्रॉपर की सहायता से इसे बहार खिंच के निकल दें। इससे शिशु की नाकसे नेस ल ड्राप के साथ-साथ बलगम भी ढीला हो के निकल जायेगा। 

शहद और नींबू 

अगर बच्चा 1 वर्षसे कम आयु का है तो उसके लिये यह उपचार काफी फायदेमंद होगा। एक कढाई में चार -नींबू का रस, उनके छिलके और एक चम्मच अदरककी फांके लें। इसमें पानी डालें ताकि सारे के सारे चीजें इसमें डूब जाएँ। इसे ढककर 10 मिनट तककाढें। इस प्रकार तैयार पानी को अलग कर लें। अब इस तरल पेय में उतनी ही मात्र में गर्म-पानी तथा स्वाद के लिए शहद मिलाएं। बच्चेको इस प्रकार तैयार गर्म नींबू-पानी दिन में कुछ-बार पीने को दें। 

हल्दी

सर्दी खांसी होने पर हल् दी काम आती है। बच् चा अगर दूध पीता है तो अपने स् तन पर थोड़ीसी हल् दी लगा दें जिससे बच्चा जब दूध पिएं तो वह हल् दी का सेवन कर ले। अगर बच्चाबोतल से दूध पीता है, तो उसके दूध में थोड़ीसी हल्दी मिला दें और फिर बच्चेको पिलाएं। शिशु को दिन में दो बार हल् दी वाला दूध पिलाने से राहत मिलेगी। 

नमक वाला पानी पिलाएं 

अगर बच्चा बंद नाक की वजह से ना तो ठीकसे खा पा रहा है या फिर सो पा रहा है तो उसे नमक के पानी का सेवन करवाइये। यह पानी बलगम से छुटकारा दिलाएगा। इसे दिन में दो से तीन बार पिलाएं। 

सिर के नीचे तकिया रखें 

जिस तरह सर के नीचे तकिया रख कर सोने से हमें सांस लेने में आसानी होती है कुछ ऐसी ही राहत बच्चोंको जुकाम से मिलती है। आप चाहे तो अपने बच्चेके लिए एक छोटा सा तकिया खरीद सकते हैं या एक तौलिए को मलोड कर उसे शिशु के सर के नीचे रख सकते हैं। यह उपाय शिशु को बंद नाक से राहत दिलाएगा। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget