सोशल मीडिया पर ट्रेंड हुआ एक पुलिस स्टेशन

हवालात में रह चुके आरोपियों ने की तारीफ

nayanagar police station

मुंबई

पुलिस थाना के बारे में सुनकर ही लोग उससे दूर ही रहना पसंद करते हैं। हालांकि थाने के पुलिसकर्मियों के व्यवहार पर निर्भर करता है कि उनके प्रति लोगों का क्या दृष्टिकोण है। वहीं आरोपी तो पुलिस का नाम सुनकर ही भागते हैं, लेकिन एक ऐसा भी पुलिस थाना है, जिसकी लोग खूब तारीफ कर रहे हैं और कुछ का कहना है कि वे एक बार फिर से हवालात में रात गुजरना चाहते हैं। जी हां, सुनने में यह थोड़ा अटपटा लग रहा होगा, लेकिन यह बात एकदम सच है। इस पुलिस थाने का नाम है नया नगर पुलिस स्टेशन। यह मीरा रोड में स्थित है।

नया नगर पुलिस स्टेशन अब सोशल मीडिया पर अचानक से ट्रेंड करने लग गया है। इसकी वजह है इसे गूगल पर मिली रेटिंग। दरअसल इसे गूगल पर लोगों ने इसे 5 में से 4 की रेटिंग दी है। ये रेटिंग भी इंटरनेट यूज करने वाले लोगों से मिले इनपुट के आधार पर तय की जाती है। इस रेटिंग की खास वजह भी है। इस थाने में पहले किसी आरोप में बंद हुए आरोपियों ने इसे बेहद पसंद किया है। ये प्रक्रिया बिलकुल ऐसी है, जैसे आप किसी होटल से चेक आउट करें और फिर उसे गूगल पर रेटिंग दे दें। इस थाने की रेटिंग के बारे में एक अधिकारी ने ट्विटर पर पोस्ट किया है। उन्होंने इसके साथ लिखा है कि थाना इतना अच्छा कि कोई दुबारा गिरफ्तार हो कर आना चाहे। गूगल पर रेटिंग में करीब 40 लोगों ने रिव्यू लिखा है। इन रिव्यू लिखने वालों में कुछ ऐसे भी हैं, जो यहां किसी आरोपी में हवालात में रह चुके हैं। इनमें से एक है मंसूरी आवेश नामक व्यक्ति है। उसने लिखा है कि मैं कभी वहां गिरफ्तार हुआ था। पुलिसकर्मियों ने मुझसे अच्छा व्यवहार किया। वहां की हवालात अच्छी है। वहां कमरे साफ सुथरे हैं। वहां का खाना भी बेहद स्वादिष्ट था। पूरे थाने का मेरा एक्सपीरियंस काफी अच्छा रहा। मैं जब भी मौका लगा तो दोबारा उस थाने में जाना चाहता हूं।

एक ऐसे ही आर्यन डी नामक व्यक्ति ने भी रिव्यू लिखा है। उसका कहना है कि मैं ड्रग्स इस्तेमाल करने के आरोप में वहां गिरफ्तार हुआ था। वहां का हवालात उम्मीद से काफी अच्छा था। मुझे रात के खाने में राजमा चावल दिया गया था, ये सबसे अच्छी चीज थी। वहां लोग काफी अच्छे हैं। मैं जल्द ही वहां दोबारा जाना चाहूंगा।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget