महाराष्ट्र में नाइट कर्फ्यू का ऐलान

यूके से भारत आने वाली सभी फ्लाइट्स 31 दिसंबर तक सस्पेड

नई दिल्ली

ब्रिटेन में कोरोना की नई  स्ट्रेन के सामने आने के बाद दुनिया भर में हड़कंप मच गया। भारत में भी सतर्कता बरती जा रही है। भारत सरकार ने ब्रिटेन से आने वाली सभी उड़ानों को 31 दिसंबर तक के लिए रद्द कर दिया है। इस बीच महाराष्ट्र सरकार ने भी सतर्कता बरतते हुए मंगलवार से राज्य के शहरी क्षेत्रों में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया है। महाराष्ट्र सरकार का यह आदेश 22 दिसंबर 2020 से पांच जनवरी 2021 तक प्रभावी रहेगा। इस दौरान राज्य के सभी मनपा क्षेत्रों में रात 11 बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू की पाबंदियां होंगी।

उद्धव सरकार ने उक्त पाबंदियां ब्रिटेन में पाई गई कोरोना की नई स्ट्रेन के चलते लगाईं है। सरकार ने कहा है कि यूरोप और मध्य पूर्व के देशों से आने वाले सभी यात्रियों को अनिवार्य रूप से 15 दिन इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन में रहना होगा। यूरोप और मध्य पूर्व के अलावा अन्य अंतर्राष्ट्रीय गंतव्यों से आने वाले यात्रियों को होम क्वारंटाइन में रहना होगा। इस बीच एम्स के निदेशक गुलेरिया ने कहा है कि भारत में कोरोना के नए स्ट्रेन का एक भी केस सामने नहीं आया है।

एयरपोर्ट पर RT-PCR टेस्ट अनिवार्य

ऐहतियात के तौर पर, सभी ट्रां‍जिट फ्लाइट्स में यूके से आने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट्स पर अनिवार्य रूप से टेस्ट कराना होगा। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने यह फैसला कोविड के नए स्ट्रेन को भारत में फैलने से रोकने के लिए किया है। 22 दिसंबर की रात 11.59 बजे से पहले टेकऑफ कर चुकी फ्लाइट्स या उससे पहले टेकऑफ करने वाली फ्लाइट्स के यूके पैसेंजर्स को भारत में RT-PCR टेस्ट कराना होगा।

कोविड-19 वायरस के इस नए रूप का दक्षिण-पूर्व इंग्लैंड और लंदन में मामलों में बढोत्तरी देखी गयी है। इसी के बाद, स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने शीर्ष सलाहकारों की एक आपात बैठक बुलाई थी। इस संयुक्त निगरानी समूह की अध्यक्षता स्वास्थ्य सेवा महानिदेशक ने की। आपातकालीन बैठक में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS), भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रतिनिधि और अन्य लोग शामिल हुए।

यूके में ‘बेकाबू’ है ये नया स्ट्रेन

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने 19 दिसंबर को घोषणा की थी कि वायरस के नये वैरिएंट के फैलने की क्षमता 70 प्रतिशत अिधक हो सकती है। उनके स्वास्थ्य सचिव मैट हैनकॉक ने कहा कि नया वैरिएंट ‘नियंत्रण से बाहर’ है। ब्रिटेन में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 35,928 रही। कोरोना वायरस के नए स्वरूप का प्रसार तेजी से हो रहा है और 326 और मरीजों की मौत के साथ ही मरने वालों की संख्या बढ़कर 67,401 हो गई। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसे कोई साक्ष्य नहीं हैं कि यह ज्यादा जानलेवा है या टीके को लेकर यह अलग तरह की प्रतिक्रिया देगा।    

कई देशों ने लगाया ब्रिटेन की उड़ानों पर रोक

जर्मनी, इटली, बेल्जियम, डेनमार्क, बुल्गारिया,आयरिश रिपब्लिक, तुर्की और कनाडा पहले ही ब्रिटेन से विमानों की आवाजाही पर रोक लगा चुके थे। फ्रांस ने भी ब्रिटेन के लिये अपनी सीमाएं बंद करने का फैसला किया है। ब्रिटेन में श्रेणी-4 के सख्त लॉकडाउन को लागू किया गया है और सभी अनावश्यक यात्राओं व कार्यक्रमों पर प्रतिबंध है। जिन अन्य देशों और क्षेत्रों ने ब्रिटेन की यात्रा पर प्रतिबंध लगाया है उनमें हांगकांग, इजराइल, ईरान, क्रोएशिया, अर्जेंटीना, मोरक्को, चिली और कुवैत शामिल हैं।

पहले से 70% ज्यादा खतरनाक हो सकता है वायरस

वायरस में लगातार म्यूटेशन होता रहता है, यानी इसके गुण बदलते रहते हैं।  म्यूटेशन होने से ज्यादातर वेरिएंट खुद ही खत्म हो जाते हैं, लेकिन कभी-कभी यह पहले से कई गुना ज्यादा मजबूत और खतरनाक हो जाता है। यह प्रोसेस इतनी तेजी से होती है कि वैज्ञानिक एक रूप को समझ भी नहीं पाते और दूसरा नया रूप सामने आ जाता है।

जॉनसन की भारत यात्रा पर संशय

गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को बतौर मुख्य अतिथि शामिल होना है। अब उनकी यात्रा को लेकर संकट के बादल मंडरा रहे हैं।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget