बिजली क्षेत्र को कोल इंडिया से कोयला अप्रैल-नवंबर के बीच पांच प्रतिशत घटा

Electricity

नयी दिल्ली

सार्वजनिक क्षेत्र की कोल इंडिया लि. (सीआईएल) द्वारा बिजली क्षेत्र को कोयला आपूर्ति चालू वित्त वर्ष 2020-21 में अप्रैल-नवंबर के दौरान 5.3 प्रतिशत घटकर 27.746 करोड़ टन रही। सार्वजनिक क्षेत्र की केयला कंपनी ने पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 29.288 करोड़ टन ईंधन की आपूर्ति की थी। नवंबर महीने में कोल इंडिया द्वारा ईंधन की आपूर्ति 3.938 करोड़ टन पर स्थिर रही। पिछले साल के इसी महीने में कोयले की आपूर्ति 3.912 करोड़ टन थी। आंकड़े के अनुसार सिंगरेनी कोलियरीज कंपनी लि. (एससीसीएल) की बिजली क्षेत्र को कोयला आपूर्ति चालू वित्त वर्ष के आठ महीनों में 35 प्रतिशत घटकर 2.237 करोड़ टन रही जो एक साल पहले इसी अवधि में 3.444 करोड़ टन थी। इस साल नवंबर महीने में कंपनी ने 39 लाख टन कोयले की आपूर्ति की जो पिछले साल इसी माह के 46.2 लाख टन के मुकाबले कम है। सरकार के कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिये 25 मार्च से लगाये गये लॉकडाउन के कारण आर्थिक गतिविधियां लगभग ठप होने से बिजली खपत पर असर पड़ा। उससे कोयला मांग भी प्रभावित हुई। कोल इंडिया कोयले का प्रमुख आपूर्तिकतार्ओं में से एक है। देश के कुल कोयले में उसकी हिस्सेदारी 80 प्रतिशत से अधिक है। कंपनी ने 2023-24 तक एक अरब टन कोयला उत्पादन का लक्ष्य रखा है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget