यह दबाव की राजनीति नहींः राउत

सोनिया गांधी ने उद्धव ठाकरे को लिखा पत्र

Sanjay Raut

मुंबई

शिवसेना नेता संजय राउत ने अनुसूचित जातिऔर अनुसूचित जनजाति कल्याण योजनाओं पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे सोनिया गांधी के पत्रपर प्रतिक्रिया व्यक्त की है। राउत ने कहा यदि कांग्रेस पार्टी महाराष्ट्र और यहां के लोगों के हित में एजेंडा सामने लाई है तो उसका स्वागत किया जाना चाहिए। ये कोई दबाव की राजनीति नहीं है।

गौरतलब है कि शुक्रवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्रीउद्धव ठाकरे को भेजे गए एक पत्रमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया  गांधी ने लिखा था कि अनुसूचित जातिऔर अनुसूचित जनजाति समुदायों में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए सरकारी अनुबंधों और परियोजनाओं में आरक्षण की व्यवस्था शुरु होनी चाहिए। सोनिया गांधी ने दलितों और आदिवासियों के हित और कल्याण के लिए नई नीतियों और कार्यक्रमों को लेकर किए वादों पर कहा था कि दलितों और आदिवासियों के कल्याण के लिए ये बहुत महत्वपूर्ण हैं। 

सोनिया गांधी ने अपने पत्रमें लिखा था कि अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) वर्गके लोगों के लिए स्वामित्ववाले उपक्रमों के लिए सरकारी ठेकों और परियोजनाओं में आरक्षण की व्यवस्थाकी शुरुआत होनी चाहिए। इन समुदाय के लिए विनि विभागों में आरक्षित पदों की रिक्तियों को भरा जाना चाहिए। इसके साथ ही इस समुदाय के युवा वर्गको आत्मनिर्भर बनाने के लिए शिक्षा, तकनीकी प्रशिक्षण और कौशल विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता देने के साथ-साथ इनके लिए छात्रवृत्ति योजनाओं और छात्रावास सुविधाओं और शिष रूप से आवासीय स्कूलों का विस्तार किया जाना चाहिए। 

बजटका आवंटन

अनुसूचित जातिऔर अनुसूचित जनजातिको आरक्षण दिए जाने के अलावा सोनिया गांधी ने पत्रके माध्यम से ये कहा कि अनुसूचित जातिऔर अनुसूचित जनजातिके विकास के लिए उनकी आबादी के अनुपात में बजट आवंटित किया जाना चाहिए।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget