विकास की अविरल धारा बहती रहेगी: मोदी


वाराणसी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार की दोपहर काशी और प्रयागराज के बीच 2474 करोड़ की सिक्स लेन परियोजना का लोकर्पण किया। दोपहर 2.10 पर विशेष विमान से बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचे पीएम मोदी ने सबसे पहले परियोजना के मॉडल को देखा। पीएम मोदी ने कहा कि हमारा ध्यान देश की विरासत और संस्कृति बचाने पर है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि गंगा की अविरल धारा की तरह विकास की गंगा भी यहां बहती रहेगी। पीएम के दीप जलाने के बाद गंगा के दोनों किनारों पर सजे लाखों दीप जगमगा उठें। इससे पहले पीएम ने सिक्स लेन का लोकार्पण किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि सिक्स लेन देव दीपावली पर काशी को उपहार है। मोदी ने कहा कि आजादी के बाद कभी इतना काम नहीं हुआ है। जनसभा के बाद पीएम मोदी हेलीकाप्टर से गंगा किनारे डोमरी पहुंचे और क्रूज से काशी विश्वनाथ कॉरिडोर पहुंचे। निर्माणाधीन काॉरिडोर पीएम मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट है। कॉरिडोर से सीधे पीएम मोदी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे और बाबा का पूजन अर्चन किया। यहां से पीएम मोदी राजघाट पहुंचे और देव दीपावली महोत्सव का शुभारंभ किया। राजघाट पर दीपदान के बाद पीएम क्रूज से रविदास घाट की ओर रवाना हुए। इस दौरान घंटेभर गंगा के दोनों किनारे पर होने वाले दीपदान का नजारा लिया। चेतसिंह घाट के सामने रुक कर लेजर शो देखा। इसके बाद क्रूज से ही रविदास घाट पहुंचे। यहां से सड़क मार्ग से सारनाथ के लिए रवाना हो गए। इससे पहले पीएम ने अपने भाषण की शुरुआत भोजपुरी में की तो लोग उत्साहित होकर तालियां पीटने लगे।

भोजपुरी में बोले पीएम

भाषण की शुरुआत में भोजपुरी में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'पुनवासी पर अनादि काल से गंगा में डुबकी लगावे और दान-पुण्य क महत्व रहल हौ। कोई पंचगंगा घाट, कोई दशाश्वमेध या अस्सी पर डुबकी लगायत आवत हौ। गंगा तट और गोदौलिया क ज्ञानवापी धर्मशाला त भरल पड़त रहल। पंडित राम किंकर महाराज पूरे कार्तिक महीना बाबा विश्वनाथ का राम कथा सुनावत रहलन। देश के कोने से लोग उनकर कथा सुने आवत रहने'। पीएम ने आगे कहा कि कोरोना काल ने भले ही काफी कुछ बदल दिया है, लेकिन काशी की ऊर्जा, काशी की भक्ति, उसकी शक्ति को कोई नहीं बदल सकता है। सुबह से ही काशीवासी स्नान ध्यान और दान में ही लगे हैं। काशी वैसे ही जीवंत है। काशी की गलियां, वैसी ही ऊर्जा से भरी हैं। काशी के घाट, वैसे ही दैदीप्यमान हैं। यही तो मेरी अविनाशी काशी है।

पीएम मोदी ने कहा, 'लाखों दीपों से काशी के घाटों का जगमग होना अद्भुत है। गंगा की लहरों में यह प्रकाश और भी अलौकिक बना रहा है। ऐसा लग रहा है जैसे पूर्णिमा पर देव दिवाली मनाती काशी महादेव के माथे पर चंद्रमा की तरह चमक रही है। काशी की महिमा ही ऐसी है। हमारे शास्त्रों में कहा गया है कि काशी तो आत्मज्ञान से प्रकाशित होती है। इसलिए काशी पूरे विश्व को प्रकाशित करने वाली है। हर युग में काशी के इस प्रकाश से किसी न किसी महापुरुष की तपस्या जुड़ जाती है और काशी दुनिया को रास्ता दिखाती रहती है'।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget