रीजनल कनेक्टिविटी से जुड़ा वाराणसी एयरपोर्ट

लखनऊ 

उत्तर प्रदेश सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्री नन्दगोपाल गुप्ता नन्दी ने गुरुवार को अपने विधान सभा कार्यालय कक्ष में नागरिक उड्डय विभाग के उच्च अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में मंत्री ने हवाई उड़ान के प्रति लोगों के लगातार बढ़ रहे रुझान को देखते हुए रिजनल कनेक्टिविटी स्कीम के तहत अन्य शहरों के लिए हवाई उड़ान शुरू करने का निर्देश दिया। इस दौरान लखनऊ से बरेली, वाराणसी, हिंडन और प्रयागराज के लिए हवाई उड़ान शुरू करने के कवायद का निर्णय लिया गया। 

विशेष सचिव एवं निदेशक नागरिक उड्डयन विभाग सुरेंद्र सिंह ने लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर, प्रयागराज, आगरा, हिंडन के साथ ही अन्य एयरपोर्ट की प्रगति व योजनाओं की पूरी जानकारी दी। कोविड काल में भी हवाई यात्रा करने वालों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए महत्वपूर्ण एयरपोर्टों से जल्द ही अन्य शहरों के लिए भी हवाई उड़ान शुरू करने का निर्णय लिया गया। बैठक में वारणसी के साथ ही आस-पास के शहरों के पर्यटन विकास पर भी चर्चा हुई। इसमें पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए वाराणसी एयरपोर्ट को रिजनल कनेक्टिविटी स्कीम से जोड़ने का निर्णय लिया गया। वाराणसी एयरपोर्ट से अभी तक रिजनल लेवल की एक भी उड़ान सेवा मौजूद नहीं है। जिसके तहत निर्णय लिया गया कि वाराणसी से लखनऊ, बरेली के साथ ही अन्य शहरों के लिए हवाई सेवा शुरू की जाए। नन्दी ने कहा कि अगर हिंडन एयरपोर्ट से प्रयागराज और लखनऊ के लिए हवाई सेवा शुरू हो जाए तो यह लोगों के लिए बहुत  उपयोगी साबित होगा। विकास की दृश्टि से पूरे प्रदेश के लिए मील का पत्थर साबित होगा। हिंडन से प्रयागराज और लखनऊ के लिए हवाई सेवा शुरू करने की कवायद का निर्णय लिया गया, इसके लिए एयरलाइंस कंपनियों व डीजीसीए से वार्ता की जाएगी। मंत्री ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा लखनऊ एयरपोर्ट को 50 वर्ष की लीज पर मेसर्स अडानी इंटरप्राइजेज को दिया गया है। यह एयरपोर्ट एक नवंबर 2020 से अडानी इंटरप्राइजेज द्वारा गठित की गई, एसपीवी मेसर्स अडानी लखनऊ इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड द्वारा संचालित किया जा रहा है। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget