टीएमसी में फिर बगावत की आहट!


कोलकाता

बंगाल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले जारी सियासी उठापटक के बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कैबिनेट की बैठक की। सूत्रों के अनुसार इस बैठक के दौरान राज्य के चार मंत्री उपस्थित रहे। इसके बाद एक बार फिर सियासी अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। इसमें सबसे प्रमुख नाम कद्दावर नेता व वन मंत्री राजीव बनर्जी का है। राजीव काफी दिनों से तृणमूल नेतृत्व से नाराज चल रहे हैं। राजीव बनर्जी के अलावा पर्यटन मंत्री गौतम देव, रवींद्र नाथ घोष एवं चंद्रनाथ सिन्हा भी अनुपस्थित रहें। इनमें गौतम देव व रवींद्र नाथ घोष के बारे में कहा जा रहा है कि चूंकि वे उत्तर बंगाल से आते हैं, इसीलिए कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते इतनी दूर से उन्हें नहीं आने के लिए कहा गया था। चंद्रनाथ सिन्हा पुरुलिया से आते हैं। वह भी बैठक से गैरहाजिर रहे। इसमें सबसे ज्यादा राजीव बनर्जी को लेकर चर्चा है। बनर्जी हावड़ा के डोमजूर से विधायक हैं, जो राज्य सचिवालय नवान्न से कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर है। इसके बावजूद वे कैबिनेट की बैठक से गैरहाजिर रहे। गौरतलब है कि राजीव बनर्जी सुवेंदु अधिकारी के करीबी माने जाते हैं। ममता सरकार में मंत्री रहे कद्दावर नेता सुवेंदु अधिकारी ने चार दिन पहले ही अमित शाह की उपस्थिति में भाजपा का दामन थामा है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget