कांग्रेस पर बरसे अमित शाह

पूर्वोत्तर पर सालों राज करने वालों ने सिर्फ भूमि पूजन किया

amit shah

इम्फाल
 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पूर्वोत्तर की अपनी तीन दिवसीय यात्रा के अंतिम दिन रविवार को  मणिपुर पहुंचे। शाह ने कहा कि पूर्वोत्तर को अलगाववाद और हिंसा के लिए जाना जाता था, लेकिन पिछले छह सालों में लगभग सभी सशस्त्र समूहों ने एक के बाद एक हथियार डाल दिए। हिंसा में कमी आई है। मुझे उम्मीद है कि बचे हुए सशस्त्र समूह भी हिंसा छोड़ देंगे और मुख्यधारा में शामिल होंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि पूर्व हो या पश्चिम, दोनों को एक साथ विकसित होना चाहिए, पिछले छह सालों से ऐसा ही हो रहा है। शाह ने कहा कि इम्फाल में आईटी सेज से पूर्वोत्तर को और लाभ होगा। आईटी सेज कनेक्टिविटी और दिमाग पर चलता है। मणिपुर के युवाओं के पास दिमाग है और मोदी जी कनेक्टिविटी दी है। पहाड़ी या घाटी कोई भी क्षेत्र हो, हम मणिपुर के चौमुखी विकास के लिए प्रतिबद्ध रहे हैं।  उन्होंने कहा, 'मैं मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह को बधाई देना चाहता हूं। यहां सरकार बने सिर्फ तीन साल हुए हैं। तीन साल के अंदर मोदी जी ने वादों को पूरा किया। मणिपुर में रुकावटें आ रही थी, लोगों को दिक्कत हो रही थी। बीरेन सिंह सरकार ने मणिपुर को नई पहचान दी है।' 

शाह ने कहा, 'कांग्रेस ने पूर्वोत्तर में काफी लंबे समय तक राज किया, उन्होंने उग्रवादी संगठनों के साथ बातचीत नहीं की। लोग मर रहे थे और विकास बाधित हो रहा था। विकास के नाम पर, कांग्रेस ने सिर्फ भूमि पूजन किया लेकिन हमने परियोजनाओं का उद्घाटन किया।' 

 मणिपुर रवाना होने से पहले शाह ने गुवाहाटी के नीलाचल पहाड़ी पर स्थित शक्तिपीठ कामाख्या मंदिर में पूजा-अर्चना की। इसके बाद वह मणिपुर के लिए रवाना हुए। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि शाह मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व सरमा के साथ सुबह 10 बजे मंदिर पहुंचे। गृह मंत्री ने मंदिर के गर्भगृह में केवल तीन पुजारियों के साथ प्रवेश किया, जबकि सोनोवाल और सरमा ने द्वार के पास प्रतीक्षा की। वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि शाह ने मंदिर की ’परिक्रमा’ भी की। शुक्रवार की रात यहां पहुंचे शाह ने शनिवार को एक आधिकारिक कार्यक्रम में चार विकास परियोजनाओं का 

शुभारंभ किया। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget