मेलबर्न में हिसाब बराबर

Team india

ऑस्ट्रेलिया को आठ विकेट से हराया

 दिन ही टीम इंडिया ने मैदान मार लिया। शर्मनाक हार के बाद टीम इंडिया ने दूसरे टेस्ट मैच में जबरदस्त वापसी करते हुए ऑस्ट्रेलिया को आठ विकेट से हराया है। भारतीय टीम के कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे की अगुवाई में टीम इंडिया ने मेलबर्न को फतह किया है। भारतीय टीम ने न सिर्फ मैच अपने नाम किया बल्कि चार मैच की टेस्ट सीरीज भी 1-1 से बराबरी किया है। टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 195 रन बनाए थे। जवाब में टीम इंडिया ने पहली पारी में 326 रन बनाते हुए 131 रन की बढ़त ली थी। ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 103.1 ओवर खेलकर 200 रन बनाए और भारत को 70 रन का टारगेट दिया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत की शुरूआत खराब रही और ओपनर मयंक अग्रवाल पांच रन बनाकर आउट हो गए। मयंक के आउट होने के बाद पुजारा भी कुछ खास नहीं कर पाए और तीन रन बनाकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद कप्तान अजिंक्य रहाणे (नाबाद 27 रन) और शुभमन गिल (नाबाद 35 रन) ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए टीम इंडिया को जीत दिलाई। कप्तान रहाणे को एक जीवनदान मिला था।

रहाणे ने गिल और सिराज की तारीफ की

भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे ने अॅस्ट्रेलिया को दूसरे टेस्ट में हराकर श्रृंखला में बराबरी के बाद टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले शुभमन गिल और मोहम्मद सिराज की तारीफ की। एडीलेड में पहले टेस्ट में न्यूनतम टेस्ट स्कोर 36 रन पर आउट होने के दस दिन बाद भारत ने ऑस्ट्रेलिया को आठ विकेट से हराया। गिल ने नाबाद 35 और 45 रन की पारियां खेली जबकि सिराज ने मैच में पांच विकेट लिये। रहाणे ने मैच के बाद कहा, ‘मुझे सभी खिलाड़ियों पर गर्व है। मैं सिराज और गिल को श्रेय देना चाहूंगा जिन्होंने जबर्दस्त जीवट का प्रदर्शन किया। एडीलेड में मिली हार के बाद ऐसा प्रदर्शन देखना सुखद था।’ 

उन्होंने कहा कि नये खिलाड़ियों के लिये लगातार अनुशासित प्रदर्शन कर पाना आसान नहीं होता लेकिन गिल और सिराज ने दिखाया कि यह कैसे किया जाता है। उन्होंने कहा, ‘शुभमन के प्रथम श्रेणी कैरियर और उसके खेल के बारे में हम सभी जानते हैं। उसने इस स्तर पर अपने स्वाभाविक शॉट्स जिस तरह से खेले, उसकी परिपक्वता भी पता चलती है।’ रहाणे ने कहा, ‘सिराज ने भी बताया कि वह अनुशासन के साथ गेंदबाजी कर सकता है। नये खिलाड़ियों के लिये यह मुश्किल होता है और ऐसे में ही प्रथम श्रेणी क्रिकेट का अनुभव काम आता है।’ 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget