ड्राइ ब्रशिंग से चेहरे को दें नई रौनक

  • Dry brushing

    प्रदूषण, तनाव, लाइफ़स्टाइल, उम्र का बढ़ना और भी कई अन्य समस्याओं की वजह से चेहरे की त्वचा काफ़ी संवेदनशील हो जाती है. इस साल फ़ेशियल ड्राइ ब्रशिंग त्वचा को ताज़गी से भरने और ख़ुशनुमा बनाने में बेहद क़ामयाब हो रहा है. आइए जानते हैं कि कैसे, आप ड्राइ ब्रशिंग को अपने चेहरे पर आज़मा सकती हैं.
  • आपकी त्वचा से टॉक्सिन को निकालने में स्पेशल फ़ेशियल ब्रश काफ़ी मददगार होते हैं. ये ब्रश चेहरे के डेड सेल्स और रोमछिद्र को निकालने में अहम् भूमिका निभाते हैं. आप ब्रशिंग रोज़ाना कर सकती हैं, कभी-कभार ‌दिन में दो बार भी कर सकती हैं. चेहरे पर ब्रशिंग धीरे-धीरे करें, चाहें तो गले और चेस्ट के आसपास भी ब्रशिंग कर सकती हैं.
  • ये ब्रशेस नैचुरल, सिंथेटिक फ़ाइबर या दोनों से मिलाकर बनाए जाते हैं. जिनकी त्वचा संवेदनशील है, उनके लिए सिलिकॉन से बनाए हुए ब्रशेस बेहतर होते हैं. हाइब्रिड से बनाए हुए ब्रश नॉर्मल और ऑयली स्किन के लिए उपयुक्त हैं. ब्रश में तुरंत बैक्टीरिया लग जाते हैं, इसलिए उन्हें साफ़ ना करने से आपकी त्वचा को ज़्यादा नुक़सान होगा. इसलिए ब्रशों को रोज़ाना साफ़ कर, उन्हें किटाणुरहित बनाएं.
  • फ़ेशियल ब्रशिंग वैसे तो बेहद शानदार होते हैं, लेकिन ज़रूरी नहीं कि यह आप पर भी सूट करें. अगर इसका इस्तेमाल करने से आपके चेहरे पर रेडनेस या किसी भी प्रकार के रैशेस आते हैं, तो शीघ्र ही इसका इस्तेमाल करना बंद कर दें. आप अपना ब्रश किसी के साथ भी साझा ना करें. अगर आप इस ब्रश का इस्तेमाल कर रही हैं, तो ऐसे में हो सके तो एक्सफ़ॉलिएटिंग स्क्रब का उपयोग ना करें. यदि आप त्वचा की समस्याओं से गुज़र रही हैं, तो यह फ़ेशियल ब्रश आज़माने से पहले, एक बार स्किन एक्स्पर्ट से सलाह ज़रूर लें.


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget