रहस्यमयी बीमारी से ५०० लोग बीमार

Patient

अमरावती 

आंध्र प्रदेश के एलुरु शहर में फैली एक रहस्यमयी बीमारी को लेकर एक्सपर्ट्स के हाथों नई जानकारी लगी है। एम्स समेत अन्य स्वास्थ्य संस्थाओं के एक्सपर्ट्स ने पाया है कि यह बीमारी पानी और दूध में लेड और निकल मिले होने के कारण फैली है। हालांकि, यह खोज के शुरुआती परिणाम हैं। मंगलवार को इसकी रिपोर्ट मुख्यमंत्री वाइएस जगन मोहन रेड्डी को सौंपी गई। खास बात है कि इस बीमारी से अब तक 500 लोग बीमार हो चुके हैं और एक की मौत हो गई है। 

आंध्र प्रदेश के सीएमओ ने कहा, 'अधिकारियों ने जानकारी दी है कि एम्स की टीम की जांच में मरीजों के खून में लेड और निकल मिले हैं।' उन्होंने जानकारी दी कि इसी तरह इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी भी टेस्ट कर रही हैं और रिजल्ट आने बाकी हैं। 

एम्स और दूसरे केंद्रीय और राजकीय संस्थाओं ने अपनी स्टडी में शुरुआती चरणों में पाया है कि इस रहस्यमयी बीमारी के पीछे का सबसे बड़ा कारण पानी और दूध में लीड और निकल का शामिल होना है। एम्स के एक्सपर्ट्स की रिपोर्ट्स का हवाला देते हुए सीएमओ ने विज्ञप्ति में इस बात की जानकारी दी है। 

शनिवार रात के बाद से ही इस बीमारी के चलते लोग बेहोश हो रहे थे और उन्हें दौरे पड़ रहे थे। जीजीएच के डॉक्टरों के मुताबिक, इन लक्षणों में 3-5 मिनट का मिर्गी का दौरा, कुछ मिनटों के लिए याददाश्त खोना, घबराहट, उल्टी, सिरदर्द और कमरदर्द शामिल हैं। 

सीएम के विज्ञप्ति के अनुसार, 'इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी और दूसरी संस्थाएं टेस्ट ज्यादा टेस्ट कर रही हैं और जल्दी ही परिणामों की उम्मीद की जा रही है। मुख्यमंत्री ने अथॉरिटीज को मरीजों के शरीर में मिले भारी मात्रा में धातु की जांच करने के आदेश दिए हैं। इसके अलावा सीएम की तरफ से इलाज प्रक्रिया की निगरानी करने के लिए भी कहा गया है।' आधिकारिक आंकड़े बताते हैं कि यहां अब तक 505 लोग संक्रमित हो चुके हैं, जिसमें से 120 लोगों का इलाज अभी भी जारी है। अच्छी खबर है 370 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget