चीन के सामने भारत बने दीवार : सीडीएस

हिंद महासागर में 120 से ज्यादा युद्धपोत तैनात

Indian Navy

नई दिल्ली

चीन विश्व शांति के लिए बड़े खतरे के तौर पर उभर रहा है। उसकी नापाक मंशा को भांप ताकतवर देश गोलबंद हो गए हैं। इसी का नतीजा है कि हिंद महासागर क्षेत्र में अभी 120 से ज्यादा युद्धपोत तैनात हैं। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने इसकी जानकारी दी है। वो शुक्रवार को भारत और एशिया के साथ-साथ वैश्विक शांति की दृष्टि से हिंद-प्रशांत क्षेत्र के महत्व का जिक्र कर रहे थे।

'भारत के लिए बढ़ गई हैं सुरक्षा की चुनौतियां'

जनरल रावत ने यह भी कहा कि आज भारत बढ़ी हुई सुरक्षा चुनौतियों का सामना कर रहा है और शांति और स्थिरता के लिए सबसे अच्छा गारंटर है। हालांकि रावत ने पिछले सात महीनों से लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के साथ चीन के साथ चल रहे गतिरोध का उल्लेख नहीं किया, लेकिन उन्होंने भारत-प्रशांत क्षेत्र के कई संदर्भों में एशियाई पड़ोसी का इशारों-इशारों में जिक्र जरूर किया।

चीन की हरकतों ने दुनिया का ध्यान खींचा

जनरल रावत ने ये बातें ग्लोबल डायलॉग सिक्यॉरिटी समिट में अपने संबोधन के दौरान कहीं। उन्होंने वैश्विक दबदबे के लिए हिंद प्रशांत क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा विषय पर बोलते हुए कहा, 'हाल के वर्षों में चीन की अर्थव्यवस्था और सैन्य शक्ति बढ़ने के साथ-साथ क्षेत्र को प्रभावित करने की प्रतिस्पर्धा ने दुनियाभर का ध्यान आकर्षित किया है। अभी क्षेत्र से इतर से आए 120 से ज्यादा युद्धपोत हिंद प्रशांत क्षेत्र में अलग-अलग मिशनों के लिए तैनात हैं। विवादों को दिए जाएं तो क्षेत्र में अब तक शांति बनी रही है।'


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget