लिविंग रूम को डिजाइन करते समय न करें गलतिया

Interior

इस बात में कोई दोराय नहीं है कि लिविंग रूम घर का एक बेहद महत्वपूर्ण हिस्सा है। यह आपके घर की शान है। जब भी घर में मेहमान आते हैं तो वह सबसे पहले लिविंग रूम एरिया में ही बैठते हैं। हो सकता है कि वे आपका पूरा घर ना देखें। ऐसे में आपके लिविंग रूम के डिजाइन और डेकोरेशन को देखकर ही वे आपके घर और व्यक्तित्व के बारे में अंदाजा लगा लेते हैं। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि आप अपने लिविंग रूम एरिया को बेहद अच्छी तरह से डिजाइन करें। हम सभी यही चाहती हैं कि हमारा लिविंग एरिया और पूरा घर बेहद अच्छा लगे। लेकिन कभी-कभी ऐसा होता है कि लिविंग एरिया को डेकोरेट करते समय हम अनजाने में कुछ छोटी-छोटी गलतियां कर बैठती हैं, जिसके कारण आपके लिविंग एरिया को वह लुक नहीं मिल पाता, जो उसे वास्तव में मिलना चाहिए। वहीं दूसरी ओर हमें यह समझ ही नहीं आता कि आखिर चूक कहां हो रही हैं, जिससे लिविंग एरिया देखने में ब्यूटीफुल नहीं लग रहा है। तो चलिए आज हम आपको लिविंग रूम को डिजाइन करते समय की जाने वाली ऐसी ही कुछ छोटी-छोटी गलतियों के बारे में बता रहे हैं, जिनसे आपको वास्तव में बचना चाहिए- 

सिर्फ छत की सीलिंग पर लाइटिंग की व्यवस्था करना 

प्रकाश से एक वातावरण बनता है। लेकिन अक्सर देखने में आता है कि लोग लिविंग एरिया में केवल एक झूमर टांग देते हैं। हालांकि आपको इस गलती से बचना चाहिए। आपको लिविंग एरिया में चारों ओर लाइटिंग अरेंजमेंट करना चाहिए। 

मसलन, आप झूमर के अलावा दीवारों पर और फ्लोर लैंप आदि की व्यवस्था करें। इससे आपका लिविंग रूम ना सिर्फ देखने में खूबसूरत लगेगा, बल्कि लाइटिंग के कारण वह अधिक बड़ा और स्पेशियस भी नजर आएगा। 

गलत साइज का कारपेट 

जब भी लिविंग रूम को डिजाइन या डेकोरेट करने की बात होती है तो हम सभी वहां पर कारपेट का इस्तेमाल करती हैं। यकीनन यह लिविंग रूम के लुक्स को कई गुना बेहतर बनाता है, लेकिन ऐसा तभी संभव है, जब आप सही कारपेट को चुनें। 

आजकल मार्केट में कई डिजाइन व साइज में कारपेट मिलते हैं। अक्सर महिलाएं गलत साइज के कारपेट को चुन लेती हैं, जिसके कारण उनका लिविंग रूम देखने में बेहद ही अजीब लगता है। बेहतर होगा कि आप छोटे रग्स की जगह बड़े साइज के कारपेट को अपने लिविंग एरिया का हिस्सा बनाएं। 

गलत जगह पर टीवी लगाना 

आप अपने लिविंग एरिया (लिविंग रूम के लिए कारपेट डिजाइन) में कि जगह पर टीवी लगाती हैं, इसका भी गहरा प्रभाव प्रभाव पड़ता है। टीवी को हमेशा एक ब्लैंक वॉल पर लगाएं। टीवी को खिड़की के सामने या उसके पास ना फिक्स करें। 

यह आपकी आईसाइट के लिए नुकसानदायक है और आपको इमेज को क्लीयरली देखने से भी रोकता है। वहीं टीवी और सोफे के बीच की दूरी स्क्रीन के आकार पर निर्भर करती है। 

कुशन को नजरअंदाज करना 

लिविंग एरिया में हम सभी सोफे का इस्तेमाल (कैसे करें सोफा साफ) करती हैं, लेकिन कुशन को इतना महत्व नहीं देती, जबकि यह ना सिर्फ सोफे बल्कि पूरे लिविंग एरिया के लुक को बदल सकते हैं। इसलिए जब भी आप उन्हें चुनें तो विचार करें कि क्या उनकी सामग्री और बनावट आपके सोफा और आर्मचेयर के कपड़े से मेल खाती है। 

यदि लिविंग रूम में फर्नीचर मखमल या वेलोर से बना है, तो कॉटन या लिनेन के कुशन को ना कहें। छोटे फर्नीचर के लिए, छोटे आइटम चुनें। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget