23 हजार बुजुर्गों की हमदर्द बनेगी पुलिस

गोरखपुर

 गोरखपुर पुलिस जिले के 23 हजार बुजुर्गों की हमदर्द बनेगी। यह बुजुर्ग ऐसे हैं, जिनके परिवार के लोग बाहर रहते हैं। यह अक्सर बीमार रहते हैं। पुलिस इनका डेटा तैयार कर रही है। ताकि जरूरत पड़ने पर पुलिस जल्द से जल्द उन्हें आवश्यक मदद दे सके। जिले में तमाम बुजुर्ग ऐसे हैं, जिनके बेटे घर से बाहर रहते हैं। रिश्तेदार दूरदराज रहते हैं। अक्सर बीमार होने पर वह खुद को असुरक्षित महसूस करते हैं। मन में सदैव असुरक्षा का भाव रहता है। यूपी 112 की टीम ऐसे बुजुर्गों को चिन्हित कर रही है। जिले में प्राथमिक स्टेज पर करीब 23 हजार बुजुर्ग चिन्हित किये जा चुके हैं। इनमें से 9288 का थाने के द्वारा सत्यापन भी हो चुका है। करीब दो हजार का डेटा भी फीड हो चुका है। जल्द ही इनका डेटा पुलिस विभाग में ऑनलाइन हो जाएगा। डेटा ऑनलाइन होने पर यह आवश्यक जरूरतों पर अपने पंजीकृत नंबर यूपी 112 पर फोन करेंगे तो वरिष्ठ नागरिक के तौर पर उनकी काल दिखेगी। एमडीटीपर संबंधित बुजुर्ग का पूरा पता आ जाएगा। इससे संबंधित थाना क्षेत्र की पीआरवी को मौके पर पहुंचने पर अधिक समय नहीं लगेगा। पंजीकृत अकेले रहने वाले बुजुर्ग की अचानक तबीयत खराब हो गई है। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget