भारत के सामने 328 का लक्ष्य

 


ब्रिस्बेन

मोहम्मद सिराज और शार्दुल ठाकुर की शानदार गेंदबाजी के दम पर भारत ने ऑस्ट्रेलिया को दूसरी पारी में 294 रनों पर रोक दिया। लेकिन पहली पारी में 33 रनों की बढ़त हासिल करने के कारण वो भारत के सामने 328 रनों का लक्ष्य रखने में सफल रही। चौथे दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने बिना किसी नुकसान के चार रन बना लिए हैं। अब पांचवें दिन उसे जीत के लिए 324 रन और बनाने होंगे। हालांकि, बारिश के कारण दिन का खेल जल्दी खत्म कर दिया गया। गाबा की विकेट को देखते हुए यह लक्ष्य बहुत मुश्किल होगा। गाबा पर चौथी पारी में सर्वोच्च लक्ष्य का पीछा करके जीत 1951 में वेस्टइंडीज ने हासिल की है जब उसने 236 रनों के लक्ष्य का पीछा किया था। भारत के अनुभवहीन गेंदबाजों ने गाबा के मैदान पर कमाल की गेंदबाजी की। 

चार टेस्ट का अनुभव रखने वाले भारत के गेंदबाजी आक्रामण ने दोनों पारियों में ऑस्ट्रेलियाई टीम को ऑल आउट किया। दूसरी पारी में भारत के लिए तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने पांच विकेट झटके। उन्होंने 19.5 ओवर में 73 रन देकर पांच विकेट झटके। इसके साथ ही वह गाबा में पांच विकेट लेने वाले छठे भारतीय गेंदबाज बन गए। सिराज के अलावा अपना दूसरा टेस्ट खेल रहे शार्दुल ठाकुर ने भी बेहतरीन प्रदर्शन किया। पहली पारी में अर्धशतक जड़ने वाले इस तेज गेंदबाज ने चार विकेट झटके। उन्होंने 19 ओवर में 61 रन देकर यह कारनामा किया। इसके अलावा ऑफ स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर को एक विकेट मिला। सिराज ने शानदार प्रदर्शन करते हुए लंच के बाद शॉर्ट गेंद पर स्मिथ को गली में लपकवाया। स्मिथ 74 गेंद में सात चौकों की मदद से 55 रन बनाकर आउट हुए। रहाणे ने उनका कैच लपका। इसके बाद उन्होंने मिशेल स्टार्क और जोश हेजलवुड को पवेलियन भेजकर अपने पांच विकेट पूरे किये। इससे पहले उसने शुरुआती सत्र में 31वें ओवर की तीसरी गेंद पर मार्नस लाबुशेन (22 गेंद में 25 रन) और आखिरी गेंद पर मैथ्यू वेड (0) को आउट किया। लाबुशेन ने दूसरी स्लिप में रोहित शर्मा को और वेड ने विकेट के पीछे ऋषभ पंत को कैच थमाया। इसके बाद ठाकुर ने दूसरे सत्र में कप्तान टिम पेन (27) और कैमरन ग्रीन (37) को पवेलियन भेजा। पेन ने विकेट के पीछे पंत को और ग्रीन ने रोहित को कैच थमाया। इससे पहले डेविड वॉर्नर और मार्कस हैरिस ने पहले विकेट के लिये 89 रन जोड़े। वॉर्नर ने 75 गेंद में छह चौकों की मदद से 45 रन बनाये, लेकिन वाशिंगटन सुंदर ने उन्हें पगबाधा आउट किया। इसके बाद हैरिस 82 गेंद में 38 रन बनाकर शार्दुल ठाकुर के बाउंसर का शिकार हुए, जिनका कैच पंत ने लपका। हैरिस ने अपनी पारी में आठ चौके जड़े।

बारिश डाल सकती है खलल

पांचवें दिन भारत के लिये लक्ष्य तो मुश्किल है ही, साथ ही बारिश का खलल पड़ने की भी आशंका है। मैच का नतीजा चाहे जो हो, लेकिन दोनों टीमों ने पूरी सीरीज में जबर्दस्त प्रदर्शन करके क्रिकेट प्रेमियों के दिल जीते। चोटों के कारण अपने प्रमुख खिलाड़ियों को गंवाने वाली भारतीय टीम की ‘युवा ब्रिगेड’ तो हर कसौटी पर खरी उतरी।

 मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह की कमी तो टीम को खली, लेकिन इन युवाओं ने भी शानदार प्रदर्शन करके भविष्य उज्जवल होने के संकेत दे दिये।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget