मार्च में होगा मेट्रो-7 व मेट्रो 2ए कॉरिडोर पर ट्रायल रन

metro

मुंबई

करीब एक महीने की देरी के बाद मेट्रो के पहले कोच का मुंबई आने का रास्ता साफ हो गया है। 27 जनवरी को छह डिब्बों की मेट्रो की पहली रेक बेंगलुरु से मुंबई पहुंच जाएगी। कुछ दिन पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मेट्रो-7 और मेट्रो 2ए कॉरिडोर के लिए बेंगलुरु में बन रहे ड्राइवर लैस मेट्रो कोच का जायजा लिया था।

 एमएमआरडीए के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, बेंगलुरु में मेट्रो कोच का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। 23 जनवरी के आस-पास छह डिब्बों की रेक सड़क मार्ग से बेंगलुरु से मुंबई की तरफ रवाना होगी। 27 जनवरी की सुबह मेट्रो-7 और मेट्रो 2ए कॉरिडोर की पहली रेक मुंबई पहुंच जाएगी। रेक को चारकोप के मेट्रो डिपो में रखा जाएगा। मेट्रो कोच के रखरखाव के लिए प्राधिकरण ने चारकोप डिपो का निर्माण कार्य करीबन पूरा कर लिया है।

 बता दें कि यह कोच दिसंबर के अंतिम सप्ताह में आने वाले थे। एमएमआरडीए 14 जनवरी या मकर संक्रांति तक मेट्रो के ट्रायल रन की शुरुआत करने वाली थी। मई से पूरे मार्ग पर सेवा शुरू करने की योजना थी। मेट्रो कॉरिडोर के अधूरे सिविल वर्क के कारण मुंबईकरों को मेट्रो से सफर करने के लिए कुछ और महीनों तक इंतजार करना पड़ सकता है। निर्धारित समय तक सिविल वर्क पूरा नहीं होने के कारण जनवरी से बजाय अब मार्च में ट्रायल रन की शुरुआत हो सकती है।

 अंधेरी (पूर्व) से दहिसर (पूर्व) के बीच 16.473 किलोमीटर लंबे मेट्रो 7 और दहिसर से डीएन नगर के बीच 18.5 किलोमीटर लंबे मेट्रो 2ए कॉरिडोर का निर्माण कार्य चल रहा है। एमएमआरडीए कॉरिडोर के लिए अत्याधुनिक कोच का निर्माण करवा रही है। सभी ट्रेन बगैर ड्राइवर के भी चल सकती है। एमएमआरडीए के अनुसार, लोगों को अभी बगैर ड्राइवर वाली ट्रेन की आदत नहीं है। इस कारण सफर करने से घबरा सकते हैं, इसलिए सेवा शुरू होने के आरंभ के कुछ महीने में प्रत्येक ट्रेन में एक ड्राइवर होगा।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget