पांच महीने की गर्भवती को परिवार नियोजन ऑपरेशन के लिए किया बेहोश

 सच सामने आया तो फर्श पर लिटा कर डॉक्टर फरार  

समस्तीपुर

बिहार के समस्तीपुर जिले के विभूतिपुर प्रखंड के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से बड़ी लापरवाही का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। बुधवार को परिवार नियोजन ऑपरेशन में एक पांच महीने के गर्भवती महिला को परिवार नियोजन के ऑपरेशन के लिए आशा के जरिए लाया गया। जहां ऑपरेशन रूम में सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद गर्भवती महिला का बिना जांचे ही उसे बेहोशी का इंजेक्शन लगाकर बेहोश कर दिया गया। वहीं जब डॉक्टरों ने महिला का पेट देखा तो ट्यूमर या बच्चा होने की आशंका के चलते ऑपरेशन बेड से महिला को उतारकर अस्पताल के बरामदे के फर्श पर लिटा दिया।

मिली जानकारी के अनुसार, प्रखंड क्षेत्र के सुरौली वार्ड संख्या- 3 निवासी बबीता देवी पति जय प्रकाश शर्मा को आशा बबीता कुमारी, परिवार नियोजन ऑपरेशन के लिए विभूतिपुर पीएससी लेकर गई। जहां ऑपरेशन की पूरी प्रक्रिया के बाद महिला को बेहोशी का इंजेक्शन देकर बेहोश कर दिया गया। उसके बाद ऑपरेशन बेड पर जब चिकित्सकों ने उसका पेट देखा तो महिला के पेट में ट्यूमर या बच्चा होने की आशंका पर उसे आनन-फानन में ऑपरेशन रूम से बाहर निकाल कर नीचे फर्श पर सुला दिया गया।

इस संबंध में पूछे जाने पर महिला की मां व मौजूद आशा बबीता कुमारी ने बताई कि यह पांच महीने की गर्भवती है। जिसे चिकित्सक ने बेड पर से बाहर कर दिए हैं। जिसे बेहोशी का इंजेक्शन की लग चुका है। मामला मीडिया में आते ही विभूतिपुर पीएचसी में हड़कंप मच गया। वहीं मौजूद प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर फुलेश्वर प्रसाद सिंह ने हेल्थ मैनेजर संजय कुमार से जानकारी लेने की बात कह कर अपना पल्ला झाड़ लिया। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget