नस्लीय टिप्पणी पर भड़के विराट


सिडनी

भारतीय क्रिकेट टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली ने सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में भारतीय टीम के खिलाड़ियों पर की गई नस्लीय टिप्पणी को लेकर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। बता दें कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच जारी तीसरे टेस्ट में तीसरे और चौथे दिन मोहम्मद सिराज और जसप्रीत बुमराह पर दर्शकों ने नस्लीय टिप्पणी की थी। कोहली ने ट्वीट कर कहा, Òनस्लीय टिप्पणी बिलकुल स्वीकार्य नहीं है। बाउंड्री लाइन पर ऐसे कई अनुभवों से गुजरने के बाद, मैं कह सकता हूं कि ये बर्दाश्त के बाहर है। मैदान पर ऐसा देखना काफी दुख पहुंचाने वाला है।Ó उन्होंने अगले ट्वीट में कहा, Òइस घटना को गंभीरता से लेना चाहिए। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की जरूरत है, जिससे चीज़ें सही हो सकें।Ó भारतीय टीम ने रविवार को एक बार फिर इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई। मैच के चौथे दिन भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने शिकायत की, जिसके बाद कुछ देर के लिए मैच रोका गया। अंपायरों और सुरक्षा अधिकारियों ने मिलकर फैसला लिया और दर्शक दीर्घा में बैठे छह लोगों को मैदान से बाहर का रास्ता दिखाया गया। वहीं इससे पहले तीसरे दिन भी सिराज और बुमराह को नस्लीय टिप्पणी का सामना करना पड़ा था।

ऑस्ट्रेलिया पर भड़के सहवाग

वीरेंद्र सेहवाग ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भड़कते हुए कहा कि तुम करो तो ताना, कोई और करे तो नस्लीय टिप्पणी। सेहवाग ने इस पूरे मामले पर ट्विटर पर एक फोटो शेयर की जिसमें रविवार को फिर से सिराज पर नस्लीय टिप्पणी के बाद मैच को रोक दिया गया था और सारी भारतीय टीम एक साथ ग्राउंड में खड़ी थी। सहवाग ने इस फोटो के साथ तीखे खब्दों में लिखा, तुम करो को ताना और कोई करे तो नस्लीय टिप्पणी। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में कुछ ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों ने जो किया वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है और उन्होंने एक अच्छी टेस्ट सीरीज़ के लिबास को बिगाड़ दिया। 

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने मांगी माफी

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने भारतीय खिलाड़ियों के खिलाफ कुछ दर्शकों द्वारा नस्लीय टिप्पणी किए जाने के मामले में माफी मांगी है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए छह दर्शकों को मैदान से बाहर भेज दिया है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इस मामले में जांच के आदेश भी दिए हैं। टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज को टी टाइम से ठीक पहले बाउंड्री लाइन पर नस्लीय टिप्पणी का शिकार होना पड़ा। सिराज ने इस मामले की जानकारी कप्तान रहाणे को दी और उन्होंने अंपायर्स से तुरंत शिकायत की। 

टी टाइम से पहले नस्लीय टिप्पणी की वजह से कुछ देर के लिए खेल को रोक भी दिया गया था।''  आस्ट्रेलियाई अखबार द डेली टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, "यह पता चला है कि भारतीय अधिकारियों ने कहा है कि बुमराह और सिराज पर दर्शकों द्वारा बीते दो दिन से फब्तियां कसी जा रही हैं जो नस्लीय हैं। मैदान के रैंडविंक छोर की तरफ जहां सिराज फील्डिंग कर रहे थे वहां दर्शकों में से यह टिप्पणी की गई।" क्रिके आस्ट्रेलिया ने आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा है कि वह इस तरह की घटना की निंदा करता है। सीए के इंट्रीगिटी एवं सिक्योरिटी प्रमुख सीन कॉरोल ने कहा है कि जो लोग इस तरह की घटनाओं में लिप्त हैं, सीए उनका कभी स्वागत नहीं करेगा।

जस्टिन लैंगर ने बताया शर्मनाक

ऑस्ट्रेलिया के हेड कोच जस्टिन लैंगर ने सिडनी तीसरे क्रिकेट टेस्ट के दौरान कुछ दर्शकों के भारतीय खिलाड़ियों पर नस्ली टिप्पणी करने को शर्मनाक करार दिया। इन दर्शकों को बाद में उनके बर्ताव के लिए सिडनी क्रिकेट मैदान (एससीजी) से बाहर कर दिया गया। मेहमान टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने दर्शकों के एक समूह द्वारा नस्ली टिप्पणी की शिकायत दी जिसके बाद चौथे दिन के दौरान कुछ देर खेल रुका रहा। बाद में कुछ दर्शकों को मैदान से बाहर कर दिया गया और मेजबान देश के क्रिकेट बोर्ड ने माफी मांगी। उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के इतिहास में जो हुआ जब आप उसे लेकर शिक्षित होते हो तो आपको समझ में आता है कि आखिर क्यों यह इतना पीड़ादायक है। रविवार की इस घटना से एक दिन पहले एससीजी पर नशे में धुत्त एक दर्शक ने कथित तौर पर जसप्रीत बुमराह और सिराज पर नस्ली टिप्पणी की थी। भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने इसके बाद आईसीसी के पास शिकायत दर्ज कराई। मेहमान टीम के खिलाफ दो दिन में नस्लवाद की दो घटनाओं का प्रतिक्रिया देते हुए लैंगर ने कहा कि यह शर्मनाक है कि इतनी कड़ी टक्कर वाली सीरीज की छवि इस तरह की घटनाओं से खराब होती है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget