तेलों के लाजवाब गुण

oil

भारतीय रसोई में खाने बनाने के लिए लोग सरसों, जैतून या अन्य तेलों का इस्तेमाल करते हैं। मगर, भोजन का स्वाद बढ़ाने के अलावा तेल सेहत और खूबसूरत में भी अहम भूमिका निभाते हैं। जोड़ों का दर्द हो या डल स्किन, औषधीए गुणों से भरपूर तेल हर समस्या का हल है। हालांकि हर कार्य के लिए अलग-अलग तेलों का यूज होता है। यहां हम आपको 10 ऐसे तेलों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनमें कई गुण छुपे हुए हैं।

जैतून का तेल

जैतून तेल सिर्फ भोजन पकाने के लिए ही इस्तेमाल नहीं होता  बल्कि इससे मसाज करने से जोड़ों के दर्द से भी राहत मिलती है। वहीं यह त्वचा के लिए भी फायदेमंद है। लकवा लगने पर भी जैतून तेल से मालिश करना फायदेमंद होता है।

सरसों का तेल

सरसों के तेल से मसाज करने पर ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और थकान भी दूर होती है। इसके अलावा पैर के तलवों में इससे आंखों की रोशनी बढ़ती है। गठिया, जोड़ों का दर्द, दांतों व मसूड़ों में सूजन, पायरिया में भी यह बहुत फायदेमंद है।

तिल का तेल

इसमें विटामिन ई और ए भरपूर होते हैं, जिससे स्किन ग्लो करती है। वहीं, स्कैल्प पर इससे मसाज करने पर बालों का टूटना कम होता है और वो मजबूत होते हैं। तिल के तेल को गुनगुना करें। इसमें पिसी हुई सोंठ और हींग पाउडर मिलाकर मसाज करने से जोड़ों का दर्द गायब हो जाएगा।

नारियल तेल

सर्दियों में होने वाली प्रॉब्लम्स के लिए तो नारियल तेल वरदान है। इससे स्किन ड्राई नहीं होती है मुलायम बनती है। वहीं बालों पर इससे मसाज करने पर उनका टूटना कम होता है। आप चाहें तो इसे भोजन पकाने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 

बादाम का तेल

बादाम तेल में विटामिन ई भरपूर होता है, जिससे झुर्रियों की समस्या कम होती है। इसके अलावा एक गिलास दूध में बादाम तेल मिलाकर पीने से याददाश्त तेज होती है। बादाम तेल से मालिश करने पर बाल डैमेज नहीं होते और सिल्की-शाइनी बनते हैं।

अलसी का तेल

अलसी के तेल को हल्का गुनगुना करके चेहरे की मसाज करें और फिर रातभर ऐसे ही छोड़ दें। इससे स्किन ग्लो करेगी। इसके अलावा जोडों के दर्द और कुष्ठ रोगों में भी अलसी के तेल का कारगार है।

अरंडी का तेल

एक गिलास दूध में अरंडी का तेल मिक्स करके पीने से कब्ज की समस्या दूर होगी और पाचन क्रिया सही रहेगी। साथ ही इससे याददाश्त भी तेज होती है। वहीं, स्कैल्प पर इससे मसाज करने से ठंडक मिलेगी और तनाव दूर होगा।

मूंगफली का तेल

पौष्टिक तत्वों से भरपूर मूंगफली का तेल भी कुकिंग के लिए परफेक्ट है। यह पचने में आसान होता है, जिससे पेट की समस्याएं दूर रहती हैं। साथ ही खून में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को भी कंट्रोल करता है। 

नीम का तेल

दांत में दर्द होने पर नीम तेल की कुछ बूंदें डालें। इससे दर्द गायब हो जाएगा। इसके अलावा पिंपल्स और एंटी-एजिंग समस्याओं के लिए भी यह बहुत फायदेमंद है। जो लोग अस्थमा की बीमारी के शिकार हैं। उन्हें नीम के तेल से भांप लेनी चाहिए। इससे सांस से जुड़ी परेशानी से राहत मिलती है।

आंवले का तेल

विटामिन सी से भरपूर आंवला तेल तो बालों के लिए वरदान है। इससे ना सिर्फ बालों का झड़ना कम होता है बल्कि वो काले, घने, सिल्की-शाइनी भी बनते हैं। इसके अलावा इससे ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है और बालों को पोषक तत्व मिलते हैं, जिससे बालों की ग्रोथ तेजी से बढ़ती है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget