नौसेना को मिलेंगी ताकतवर बंदूकें

 चीन से निपटने में अमेरिका की मदद

 

navy

नई दिल्ली

चीन के साथ तनाव के बीच अमेरिका ने भारत की मदद की है। अमेरिका ने अपनी नौसेना के हथियारों में से तीन 127 मीडियम कैलीबर बंदूकें भारत को देने का फैसला किया है। अमेरिका की तरफ से ये बंदूकें 3800 करोड़ रुपए की डील के तहत मिलने वाली हैं। खास बात है कि भारत लगातार अमेरिका के साथ अपने सैन्य संबंध मजबूत कर रहा है। हाल ही में भारत ने अमेरिका से दो ड्रोन भी लीज पर लिए हैं।

इन बंदूकों को समुद्र में तैनात युद्धपोतों पर भेजा जाना है। भारत ने अमेरिकी सरकार के नाम एक लैटर ऑफ रिक्वेस्ट जारी किया था। इस पत्र के जरिए भारत ने 11 127 मीडियम कैलीबर बंदूकों की मांग की थी। इन बंदूकों को भारतीय नौसेना के बड़े युद्धपोतों पर भेजा जाना है। सूत्रों ने बताया कि अमेरिका अपने हथियारों में से तीन बंदूकें भारतीय नौसेना को देगी, ताकि भारतीय युद्धपोतों तक जल्द से जल्द हथियार भेजे जा सकें। अमेरिका ने फिलहाल नई बंदूकों का उत्पादन शुरू नहीं किया है।

 नई बंदूकों को बनाने का काम शुरू होने के बाद जैसे ही वे डिलीवरी के लिए तैयार होंगी, अमेरिकी नौसेना के हिस्से की बंदूकों को वापस बुला लिया जाएगा। मीडियम कैलीबर बंदूकें भारतीय सेना में नई होंगी।

खास बात है कि भारतीय नौसेना ने अमेरिका से अच्छे संबंध स्थापित कर लिए हैं। वहीं, भारत ने भी बीते कुछ समय में अमेरिका से बड़ी मात्रा में हथियारों का अधिग्रहण किया है। निगरानी के लिए इस्तेमाल किए जा रहे हवाई जहाजों की जगह P-8I जहाज ने ले ली है। वहीं, अमेरिका से मिल रहे MH-60 रोमियोज हैलीकॉप्टर्स, सीकिंग चॉपर्स की जगह लेंगे।

भारतीय नौसेना अपने युद्धपोतों को आधुनिक और ताकतवर बनाने की तैयारियों में जुटी हुई है। कुछ दिनों पहले ही सरकार ने सेना को 10 जहाजी ड्रोन खरीदने का फैसला किया था। नौसेने ने यह कदम चीन के साथ जारी तनाव को देखते हुए उठाया था। वहीं, इन ड्रोन्स को हिंद महासागर में दुश्मनों की निगरानी और पानी में जारी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए तैनात किया जाएगा।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget