अबूझ पहेली बनी इंडिगो मैनेजर की हत्या

पटना

इंडिगो एयरलाइंस के मैनेजर रूपेश सिंह के मर्डर की मिस्ट्री सुलझाना राजधानी पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बन गई है। हर दिन नई-नई कड़ियां सामने आने से पुलिस जांच के दलदल में उलझती जा रही है, जिसके चलते यह हत्याकांड पुलिस के लिए अबूझ पहेली बन गई है। यही वजह है कि अब तक न तो वारदात में शामिल फरार शूटर पकड़े गए हैं और न ही लाइनर। जबकि घटना के बाद पुलिस करीब 150 से अधिक संदिग्धों व एक सरकारी विभाग के कुछ अधिकारियों व कर्मचारियों से गहन पूछताछ कर सकती है। शनिवार को हिरासत में लिये गये 9 संदिग्धों में से दो से अब भी पूछताछ की जा रही है। हत्याकांड के मामले में आईजी रेंज से लेकर एसएसपी तक कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। इस चर्चित हत्याकांड का पर्दाफाश कब तक होगा, वजह क्या रही है, पुलिस के पास कोई स्पष्ट जवाब नहीं है। सूत्रों की मानें तो घटना के वक्त इलाके में एक्टिव रहे 100 से अधिक मोबाइल नंबर पुलिस के रडार पर हैं। इन नंबरों को ट्रैस कर पुलिस यह जानने के प्रयास में है कि संबंधित नंबर किसके हैं। पुलिस मान रही है कि लाइनर जरूर शूटरों के संपर्क में रहा होगा। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget