पहला टीका सफाईकर्मी तो दूसरा लगा एंबुलेंसकर्मी को

 पटना

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की उपस्थिति में शनिवार को बिहार में कोरोना के टीकाकरण का शुभारंभ हुआ। आईजीआईएमएस में शनिवार को 11 बजे संस्थान के सफाईकर्मी रामबाबू को पहला टीका सीएम नीतीश की उपस्थिति में दिया गया। इसके बाद टीकाकरण प्रारंभ कर दिया गया है। दूसरा टीका एंबुलेंस चालक अमित कुमार को दिया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में टीकाकरण की पूरी तैयारी है। वहीं फारबिसगंज अस्पताल में पहला टीका एएनएम ऐनी बेसेंट को दिया गया। सुबह 11.30 बजे से टीकाकरण की शुरुआत हुई। किशनगंज में टीकाकरण कार्य शुरू हुआ। पहले दिन एक सौ फ्रंट लाइन स्वास्थ्य कर्मी को टीकाकरण से जुड़ी सूची में शामिल किया गया है। बहादुरगंज में कोविड 19 का पहला टीका स्वास्थ्यकर्मी संतोष झा को लगाया गया। टीका लेने के बाद संतोष झा ने बताया कि शनिवार को देशवासियों के लिये उत्सव का दिन है। वैश्विक महामारी कोरोना का टीका आने से ‘कोरोना हारेगा देश जीतेगा’ से जुड़ा स्लोगन आखिरकार सही साबित हुआ। स्वस्थ्यकर्मी संतोष के अनुसार हर किसी को कोविड 19 का टीका लेकर कोरोना को भगाने के मिशन में सहयोगी बनने की आवश्यकता है। औरंगाबाद जिले में शनिवार को निर्धारित समय पर कोविड-19 का टीकाकरण शुरू हो गया। जिले में सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैक्सीन आई है। करीब 11 बजे जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र में डीएम सौरभ जोरवाल ने फीता काटकर इस टीकाकरण का औपचारिक उद्घाटन किया। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई थी। डीएम ने उद्घाटन करने के बाद जानकारी ली। स्वास्थ्यकर्मी नागेंद्र कुमार केसरी को कोविड-19 का पहला टीका दिया गया। इसके बाद बारी-बारी से अन्य लोगों ने टीका लिया। औरंगाबाद में देव अस्पताल में भी टीकाकरण शुरू किया गया, जहां सिविल सर्जन डॉ. अकरम अली, डीआईओ डॉ लाल देव प्रसाद सिंह, डीपीएम डॉ. कुमार मनोज, निदेशक डॉ. अभय कुमार की मौजूदगी में टीकाकरण शुरू किया गया। डीएम ने कहा कि चिन्हित स्वास्थ्य कर्मियों को टीका दिया जा रहा है। 28 दिनों के बाद उन्हें दूसरी डोज दी जाएगी, इस बात का उन्हें ध्यान रखना है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget